Home /News /nation /

गुरु पर्व पर भारत खोल सकता है करतारपुर कॉरिडोर; पंजाब नेताओं संग बैठक के बाद PM मोदी का फैसला: सूत्र

गुरु पर्व पर भारत खोल सकता है करतारपुर कॉरिडोर; पंजाब नेताओं संग बैठक के बाद PM मोदी का फैसला: सूत्र

पाकिस्तान के करतारपुर में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब. (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के करतारपुर में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब. (फाइल फोटो)

Kartarpur Corridor News: पिछले साल मार्च में कोरोना के चलते करतारपुर गलियारा बंद कर दिया गया था. 9 नवंबर 2019 को करतारपुर गलियारे को गुरु नानक देव जी की 550 वी जयंती के मौके पर खोला गया था. सूत्रों ने बताया कि करतापुर गलियारा खोलने की घोषणा बहुत जल्द हो सकती है. करतारपुर गलियारा खोलने को लेकर केंद्र सकारात्मक रुख दिखा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. बाबा गुरुनानक देव जी की 552वीं जयंती (Guru Nanak Jayanti) के मौके पर सिख श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर है. केंद्र सरकार करतारपुर गलियारे (Kartarpur Corridor) को फिर खोलने के लिए गंभीरता से विचार कर रही है. उच्च सूत्रों ने न्यूज़18 को बताया कि गुरुपरब (Gurpurab) के मौके पर करतारपुर गलियारा (Kartarpur Corridor) श्रद्धालुओं के लिए खोला जा सकता है.

आपको याद दिला दें कि पिछले साल मार्च में कोरोना के चलते यह गलियारा बंद कर दिया गया था. 9 नवंबर 2019 को करतारपुर गलियारे को गुरु नानक देव जी की 550 वी जयंती के मौके पर खोला गया था. सूत्रों ने न्यूज़18 को बताया कि गलियारा खोलने की घोषणा बहुत जल्द हो सकती है.

करतारपुर गलियारा खोलने पर केंद्र का सकारात्मक रुख
करतारपुर गलियारा खोलने को लेकर केंद्र सकारात्मक रुख दिखा रहा है. रविवार को ही पंजाब भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात कर गलियारे को खोलने की मांग की थी. मुलाकात के बाद पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि जल्द करतारपुर गलियारे को खोला जाएगा.

करतारपुर गलियारा मार्च 2020 में बंद किया गया
न्यूज़18 के सवाल पर विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा था कि करतारपुर गलियारा कोरोना संकट के कारण मार्च 2020 में बंद कर दिया गया था और दोनों देशों के बीच ज़मीनी रास्ते से बेहद सीमित आवाजाही वाघा-अटारी सीमा चेकप्वॉइंट से हो रही है.

17 से 26 नवंबर के बीच सिख श्रद्धालुओं का जत्था वाघा-अटारी सीमा से PAK जाएगा
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने न्यूज़18 के सवाल के जवाब में कहा कि था 17 से 26 नवंबर के बीच जो सिख श्रद्धालुओं का जत्था पाकिस्तान जाएगा, वह वाघा-अटारी सीमा चेकप्वॉइंट से पाकिस्तान में प्रवेश करेगा. विदेश मंत्रालय ने कहा था कि यह जत्था गुरुद्वारा ननकाना साहिब, गुरुद्वारा श्री दरबार साहिब, गुरुद्वारा श्री पंजा साहिब, गुरुद्वारा श्री डेरा साहिब, गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब और गुरुद्वारा श्री सच्चा सौदा का दौरा करेगा.

‘हिंदू धर्म मानने वाले ही भारतीय, बाकी सब मेहमान’, मणिशंकर अय्यर ने बीजेपी पर बोला हमला

हालांकि विदेश मंत्रालय ने औपचारिक रूप से ये साफ कर दिया था कि यह जत्था वाघा अटारी बॉर्डर से पाकिस्तान जाएगा, ना कि करतारपुर गलियारे के रास्ते. सूत्रों ने न्यूज़18 को बताया कि पाकिस्तान जाने वाले श्रद्धालुओं का जत्था तय रास्ते से ही पाकिस्तान दौरे पर जाएगा.

आपको बता दें कि 9 नवंबर 2019 को यह गलियारा श्रद्धालुओं के लिए खोला गया था और 129 दिन के अंदर करीब 63 हज़ार श्रद्धालुओं ने गलियारे के ज़रिए करतारपुर गुरुद्वारे के दर्शन किए थे.

Tags: India, Kartarpur Corridor, Pakistan

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर