बढ़ेगी सेना के टैंक रेजीमेंट की ताकत! हो सकता है यह बदलाव

जानकारों की मानें तो T-90 दुनिया के सबसे बेहतर टैंक है और इनकी बदौलत भारतीय सेना की ताकत में इजाफा होगा.

News18Hindi
Updated: July 12, 2018, 9:16 PM IST
बढ़ेगी सेना के टैंक रेजीमेंट की ताकत! हो सकता है यह बदलाव
T-90 टैंक (File Photo)
News18Hindi
Updated: July 12, 2018, 9:16 PM IST
(संदीप बोल)

अगर दुश्मन को जमीन पर घुटने टेकने के लिए मजबूर करना हो तो टैंक के जरिए इस काम को आसानी से अंजाम दिया जा सकता है. जिस सेना के पास बेहतर टैंक हो उसे आमने-सामने की लड़ाई में एडवांटेज मिलता है. भारत के पास रूस की बनी टैंक का एक बड़ा जखीरा है, जिसमें T-55, T-72 और T-90 टैंक शामिल हैं. हालांकि T-55 अब पुराने पड़ चुके हैं.

अपने टैंक बेड़े को ताकत देने के लिए सेना ने 464 अत्याधुनिक T-90 टैंक का ऑर्डर दिया है. यानी भारतीय सेना में 11 से 12 नई टैंक रेजिमेंट बढ़ने जा रही है. ऑर्डिनेन्स फैक्ट्री बोर्ड को दिए इस पूरे ऑर्डर की कीमत 3500 करोड़ रुपये के करीब है. 2022-23 में इन टैंकों के भारतीय सेना में शामिल होने की उम्मीद जताई जा रही है.

जानकारों की मानें तो T-90 दुनिया के सबसे बेहतर टैंक है और इनकी बदौलत भारतीय सेना की ताकत में इजाफा होगा.

दुनिया के सबसे बेहतर और खतरनाक टैंक
T-90 टैंक दुनिया की सबसे बेहतर और खतरनाक टैंक में से एक है. इस टैंक की क्षमता 5 किलोमीटर दूर तक वार करने की है. वहीं T-72 टैंक की क्षमता को भी बढ़ाया जा रहा है. इस टैंक के इंजन की ताकत को 786 हॉर्स पावर से बढ़ाकर 1000 बॉक्स पावर किया जाएगा.

भारतीय सेना के पास हैं इतने टैंक
भारतीय सेना के पास टैंकों की संख्या पर गौर करें तो इस वक्त सेना के पास 1000 से अधिक T-90 टैंक, 1950 T-72 टैंक, 122 स्वदेशी एमबीटी टैंक अर्जुन और 1100 के करीब बाकी दूसरे टैंक हैं. टैंक रेजिमेंट भारत-पाक सीमा के अलावा चीन की सीमा पर भी तैनात है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर