• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • न्‍यूयॉर्क में आमने-सामने होंगे भारत-पाक के विदेश मंत्री, 25 को होगी सार्क बैठक

न्‍यूयॉर्क में आमने-सामने होंगे भारत-पाक के विदेश मंत्री, 25 को होगी सार्क बैठक

न्‍यूयॉर्क में सार्क देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में जाएंगे एस जयशंकर. (File pic)

न्‍यूयॉर्क में सार्क देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में जाएंगे एस जयशंकर. (File pic)

India Pakistan: सूत्रों ने जानकारी दी है कि इस मंच से पाकिस्तान का नाम लिए बिना विदेश मंत्री एस जयशंकर क्षेत्र में आतंकवाद के मुद्दे पर भारत की चिंता जताएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

नई दिल्‍ली. अमेरिका (America) के न्यूयॉर्क शहर (New York) में संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान सार्क विदेश मंत्रियों की बैठक (SAARC Meeting) का आयोजन होगा. इसमें भारत (India) और पाकिस्‍तान (Pakistan) के विदेश मंत्री भी शामिल होंगे. यह बैठक 25 सितंबर की दोपहर के लिए प्लान की जा रही है. इसमें विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी एक ही छत के नीचे मौजूद होंगे.

लेकिन सूत्रों ने साफ किया है कि सार्क बैठक के दौरान भारत-पाकिस्तान के बीच कोई बातचीत या शिष्टाचार मुलाकात नहीं होगी. पिछले साल यह बैठक वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से हुई थी. सूत्रों ने जानकारी दी है कि इस मंच से पाकिस्तान का नाम लिए बिना विदेश मंत्री एस जयशंकर क्षेत्र में आतंकवाद के मुद्दे पर भारत की चिंता जताएंगे.

साथ ही अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्‍जे के बाद सार्क के मंच से भी विदेश मंत्री भारत का रुख रखेंगे. बता दें कि एससीओ सम्मेलन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि अफगानिस्तान में सत्ता परिवर्तन और नई व्यवस्था की मान्यता पर फैसला अंतरराष्ट्रीय समुदाय को सोच समझकर और सामूहिक तरीके से लेना चाहिए.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि अफगानिस्तान में सत्ता परिवर्तन बिना बातचीत के हुआ है जो नई व्यवस्था की स्वीकृति पर सवाल खड़े करता है.

सार्क विदेश मंत्रियों की बैठक में कुरैशी फिर करेंगे ड्रामा?
इससे पहले हुई सार्क बैठकों के दौरान पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ड्रामा करते नज़र आए हैं. अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद, सितंबर में हुई सार्क विदेश मंत्रियों की बैठक में तनाव साफ नज़र आया. विदेश मंत्री जयशंकर के संबोधन के दौरान पाकिस्तान के विदेश मंत्री बैठक से गायब रहे. कुरैशी ने इसे अपनी तरफ से भारत के बायकाट का तरीका करार दिया.

2019 की बैठक में विदेश मंत्री जयशंकर ने सीमा पार से जारी आतंकवाद का मुद्दा उठाया था. साथ ही विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा था कि सार्क के सामने तीन सबसे बड़ी चुनौतियां सीमापार से आतंकवाद, व्यापार में बाधा, कनेक्टिविटी में रुकावट हैं, जिनका समाधान किया जाना चाहिए.

वहीं 2018 में तत्‍कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज सार्क विदेश मंत्रियों की बैठक से अपना संबोधन खत्म करने के तुरंत बाद चली गई थीं, जिसके बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी बौखला गए थे.

अफगानिस्तान के शामिल होने पर सवाल
वहीं 25 सितंबर को होने वाली सार्क बैठक में अफगानिस्तान के प्रतिनिधित्व पर सवाल खड़े हो रहे हैं क्योंकि अभी तक अफगानिस्तान में नई सरकार को मान्यता नहीं मिली है और साथ ही तालिबान सरकार के कई मंत्री आज भी सुरक्षा परिषद की प्रतिबंधित सूची में शामिल हैं. अफगानिस्तान में नई सरकार के विदेश मंत्री आमिर खान मुत्तक़ी के बैठक में शामिल होने के आसार नहीं हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज