अपना शहर चुनें

States

भारत ने दिखाया बड़ा दिल, अपने आसमान से दी इमरान खान को श्रीलंका जाने की इजाजत

इमरान खान (फ़ाइल फोटो)
इमरान खान (फ़ाइल फोटो)

Imran Khan's Sri Lanka Visit: साल 2019 में पाकिस्तान सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने एयरस्पेस के इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं दी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 11:05 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Pakistan PM Imran Khan) को मोदी की सरकार की तरफ से बड़ी राहत मिल गई है. समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक सरकार ने इमरान खान की फ्लाइट को भारत के एयरस्पेस में उड़ने की इजाजत दे दी है. इमरान खान 23 फरवरी को श्रीलंका (Sri Lanka) के दौरे पर जा रहे हैं. अगर उनकी फ्लाइट को भारत के एयरस्पेस से जाने की इजाजत नहीं मिलती तो फिर उन्हें लंबा चक्कर काटना पड़ता. बता दें कि इमरान खान पहली बार श्रीलंका के दौरे पर जा रहे हैं.

साल 2019 में पाकिस्तान सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने एयरस्पेस के इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं दी थी. उस वक्त पीएम मोदी अमेरिका और सऊदी अरब के दौरे जा रहे थे. पाकिस्‍तान ने कश्‍मीर में कथित‍ मानवाधिकार उल्‍लंघन को बहाना बनाया था. आमतौर पर VVIP एयरक्राफ्ट्स को दूसरे देशों के एयरस्पेस में उड़ने की इजाजत दी जाती है. लेकिन पाकिस्तान ने मना कर दिया था. बाद में भारत ने इसकी शिकायत इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गनाइजेशन से की थी. इस बार अगर भारत चाहता तो इमरान खान को परमिशन देने से मना कर देता. लेकिन मोदी सरकार ने बड़ा दिल दिखाते हुए उन्हें भारत के क्षेत्र से उड़ने की इजाजत दे दी.

संसद को नहीं करेंगे संबोधित
पाकिस्तान के मीडिया इमरान खान राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे, प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे और विदेश मंत्री दिनेश गुनावर्दना के साथ वार्ता करेंगे.  इमरान खान की कोलंबो यात्रा के दौरान संसद को संबोधित करने के प्रस्तावित कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है. पाकिस्तान के 'डॉन' अखबार ने खबर दी थी कि पाकिस्तान सरकार के आग्रह पर खान द्वारा संसद को संबोधित किए जाने के कार्यक्रम को शामिल किया गया था. लेकिन अब इसे रद्द कर दिया गया है.
ये भी पढ़ें:- दिल्ली हिंसा: बीजेपी नेता कपिल मिश्रा बोले- जरूरत पड़ी तो फिर से वही करूंगा



क्यों रद्द हुआ संबोधान?
ऐसी अटकल भी है कि श्रीलंका सरकार इस बात को लेकर चिंतित थी कि खान श्रीलंका में मुस्लिमों के अधिकारों के बारे में बोल सकते हैं जो बहुसंख्यक बौद्ध समुदाय के हाथों कथित उत्पीड़न, बढ़ती मुस्लिम विरोधी भावनाएं और सरकार की ‘पक्षपातपूर्ण’ कार्रवाइयों का सामना कर रहे हैं. श्रीलंका सरकार ने यह अनिवार्य कर दिया था कि कोविड-19 से मरने वालों का दाह संस्कार किया जाएगा जिससे देश की मुस्लिम आबादी नाराज हो गई थी।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज