लाइव टीवी

OPINION: रेगिस्तानी 'दुश्मन' के खिलाफ 'संयुक्त युद्ध' का भारत का पाकिस्तान को प्रस्ताव!

Niraj Kumar | News18Hindi
Updated: May 22, 2020, 7:52 AM IST
OPINION: रेगिस्तानी 'दुश्मन' के खिलाफ 'संयुक्त युद्ध' का भारत का पाकिस्तान को प्रस्ताव!
भारत ने पाकिस्तान को सुझाव दिया है कि दोनों देश सीमा पर टिड्डी नियंत्रण अभियान का समन्वय करें

भारत ने पाकिस्तान को सुझाव दिया है कि दोनों देश सीमा पर टिड्डी नियंत्रण अभियान का समन्वय करें और भारत, पाकिस्तान को कीटनाशक मैलाथियान की आपूर्ति की सुविधा प्रदान कर सकता है.

  • Share this:
रेगिस्तानी टिड्डी पर नियंत्रण के लिए भारत ने पाकिस्तान से सहयोग का हाथ बढ़ाया है. भारत ने पाकिस्तान के अलावा ईरान को रेगिस्तानी टिड्डी से मिलकर लड़ने का प्रस्ताव दिया है. सूत्रों के मुताबिक ईरान ने भारत के प्रस्ताव को स्वीकार किया है और भारत को पाकिस्तान के फैसले का इंतज़ार है.

क्या है भारत का सुझाव?
क्षेत्रीय सहयोग के तहत भारत ने ईरान और पाकिस्तान को रेगिस्तानी टिड्डी के नियंत्रण के लिए समन्वित प्रयास का प्रस्ताव दिया है. भारत ने पाकिस्तान को सुझाव दिया है कि दोनों देश सीमा पर टिड्डी नियंत्रण अभियान का समन्वय करें और भारत पाकिस्तान को कीटनाशक मैलाथियान की आपूर्ति की सुविधा प्रदान कर सकता है. ऐसे सहयोग के लिए टिड्डी चेतावनी संगठन के संस्थागत तंत्र को सक्रिय किया जा सकता है. भारत ने ईरान को भी सिस्तान-बलूचिस्तान और दक्षिण ख़ुरासान प्रांतों में डेज़र्ट टिड्डी नियंत्रण के लिए ईरान को कीटनाशक की आपूर्ति करने की पेशकश की है. सहयोग के प्रयास पाकिस्तान-ईरान के अलावा भारत में भी रेगिस्तानी टिड्डी के प्रभाव को कम करेंगे.

भारत-पाकिस्तान के टिड्डी अधिकारियों की नियमित बैठक!



दोनों देशों के टिड्डी अधिकारियों के बीच नियमित सीमा बैठकों सहित इस तरह के सहयोग के लिए एक मौजूदा संस्थागत तंत्र है. भारत और पाकिस्तान के प्लांट प्रोटेक्शन एडवाइजर्स के नेतृत्व वाले टिड्डी अधिकारियों के बीच छह बॉर्डर मीटिंग हर साल (जून से नवंबर) या तो मुनाबाओ (भारत की ओर) और खोखरपुर (पाकिस्तान की तरफ) में दोनों देशों में टिड्डियों की स्थिति के बारे में जानकारी के आदान-प्रदान के लिए आयोजित की जाती हैं. खास बात है कि जोधपुर (भारत) और कराची (पाकिस्तान) के बीच वायरलेस संचार भी दोनों देशों के बीच टिड्डियों की जानकारी के आदान-प्रदान के लिए इस अवधि (जून से नवंबर) के दौरान हर साल बनाए रखा जाता है.



टिड्डी पर खाद्य और कृषि संगठन की रिपोर्ट!
संयुक्त राष्ट्र में खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) की रिपोर्ट के अनुसार ईरान में टिड्डे के हॉपर बैंड दक्षिण-पश्चिमी तटीय मैदानों के साथ परिपक्व हो रहे हैं और दक्षिण-पूर्व में प्रजनन की एक और पीढ़ी चल रही है और सिस्तान-बलूचिस्तान के अंदरूनी हिस्से में तट पर हैचिंग हो रही है. पाकिस्तान में, वयस्क समूह बलूचिस्तान में प्रजनन क्षेत्रों से भारत की सीमा की ओर पलायन कर रहे हैं, जहां हॉपर समूह पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा में मौजूद हैं.

संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन की रिपोर्ट के अनुसार डेजर्ट टिड्डी की आबादी बलूचिस्तान के वसंत प्रजनन से भारत-पाकिस्तान सीमा तक गर्मियों में प्रजनन के लिए स्थानांतरित होने की उम्मीद है. भारत में, अधिक वयस्क समूह और छोटे झुंड पिछले हफ्तों में पाकिस्तान से आए हैं और राजस्थान में पूर्व में जोधपुर तक पहुंच गए हैं.

कृषि मंत्रालय पर टिड्डी नियंत्रण का जिम्मा!
भारत में टिड्डी नियंत्रण की जिम्मेदारी कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय पर है. मंत्रालय क्षेत्रीय सहयोग को बढ़ावा देने के लिए पहल भी करता है. इसके अलावा, टिड्डी नियंत्रण पर क्षेत्रीय सहयोग एफएओ द्वारा संचालित है. भारत एफएओ की डेजर्ट टिड्डी नियंत्रण समिति की बैठकों और सत्रों में भाग लेता है; दक्षिण पश्चिम एशिया में रेगिस्तानी टिड्डी को नियंत्रित करने के लिए एफएओ के आयोग की बैठकों / सत्रों में भाग लेता है और आयोजन भी करता है; इसके अलावा एफएओ की तरफ से आयोजित पाकिस्तान और ईरान के साथ संयुक्त सर्वेक्षण कार्यक्रमों में भाग लेता है.

इस बात पर आम सहमति है कि डेजर्ट टिड्डी 2020 में गंभीर चुनौती पेश कर सकती है. इस साल COVID महामारी के अलावा एक नई चुनौती दक्षिण एशिया और दक्षिण पश्चिम एशिया क्षेत्र के लोगों के सामने है, जो कि डेजर्ट टिड्डी का है.

भारत को पाकिस्तान के फैसले का इंतज़ार!
ईरान पहले ही भारतीय प्रस्ताव का सकारात्मक जवाब दे चुका है. यह देखा जाना चाहिए कि क्या पाकिस्तान अपने संकीर्ण दृष्टिकोण से ऊपर उठकर रेगिस्तानी टिड्डी के खिलाफ संयुक्त युद्ध में क्या भारत के साथ हाथ मिलाता है.

ये भी पढ़ें : कोरोना और सुपर साइक्‍लोन से निटपने के लिए NDRF ने उठाया ये कदम,कम से कम गई जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2020, 7:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading