Assembly Banner 2021

सड़क निर्माण कार्य के लिए भारत ने नेपाल को दी 800 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद

भारत ने की नेपाल की मदद (Photo-ANI)

भारत ने की नेपाल की मदद (Photo-ANI)

India Nepal Relations: तराई सड़कों की परियोजना ने नेपाल के तराई क्षेत्र में सड़क के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में मदद की है और दोनों देशों के सीमावर्ती क्षेत्रों के बीच लोगों के आपसी संबंधों को बढ़ावा दिया है.

  • Share this:
काठमांडू. नेपाल के तेराई प्रांत में सड़क के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के उद्देश्य से, भारत ने एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) के तहत नेपाली को 800 करोड़ रुपये की सहायता प्रदान की है. भारतीय दूतावास की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, "नेपाल में भारत के राजदूत विनय मोहन क्वात्रा, नेपाल में भौतिक अवसंरचना और परिवहन मंत्री बसंत कुमार नेमबांग, ने भारत सरकार के सहयोग से बनी तराई सड़कों को संयुक्त रूप से नेपाल के लोगों को समर्पित किया."

एक समझौता ज्ञापन के तहत, नेपाल सरकार ने 800 करोड़ नेपाली रुपये की फंडिग के तहत भारत सरकार द्वारा बनाई जाने वाली दस प्राथमिकता वाली सड़कों की पहचान की. इन तराई सड़कों को हुलाकी राजमार्ग भी कहा जाता है और यह भारत-नेपाल सीमा के साथ पूर्व-पश्चिम राजमार्ग पर स्थित प्रमुख कस्बों को जोड़ता है, ये 10 सड़कें नेपाल के प्रांत 1, 2, और 5 के सात सीमावर्ती जिलों में स्थित हैं और इसके जरिए आसानी से 284 से अधिक वार्डों, 149 गांवों, 18 ग्राम नगर पालिकाओं, 18 नगर पालिकाओं और 1 उप-महानगरीय शहर में बेहद आसानी से यात्रा की जा सकती है.

ये भी पढ़ें- सोनू ने फ्लॉन्ट किए 6 पैक एब्स, फराह ने किया कमेंट- आप ट्रेड मिल से स्ट्रांगर



इस परियोजना को 'भारत सरकार के वित्त पोषण और नेपाल कार्यान्वयन की सरकार' के तहत लागू किया गया है.
प्रेस रिलीज़ के मुताबिक "प्रत्येक सड़क पर सात-मीटर कैरिजवे और दोनों तरफ कंधों के दो मीटर हैं. सड़कों में ड्रेनेज, रिहायशी इलाकों में रेलिंग के साथ फुटपाथ, रोड साइनेज बोर्ड, रोड मार्किंग और अन्य रोड फर्नीचर शामिल हैं. परियोजना के तहत, 652 से अधिक पुल और मार्ग 111 किलो मीटर के ड्रेनेज नेटवर्क का भी निर्माण किया गया है."

तराई सड़कों की परियोजना ने नेपाल के तराई क्षेत्र में सड़क के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में मदद की है और दोनों देशों के सीमावर्ती क्षेत्रों के बीच लोगों के आपसी संबंधों को बढ़ावा दिया है. ये पूरी हुलकी सड़कें नेपाल में भारत द्वारा विकसित अन्य प्रमुख सीमा बुनियादी ढांचे जैसे बिरगंज और विराटनगर में एकीकृत चेक पोस्ट और सीमा पार रेलवे लाइनों को भी बढ़ावा देती हैं.

भारत और नेपाल के द्विपक्षीय संबंधों ने दोनों देशों के बीच विकास सहयोग में एक और मील का पत्थर देखा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज