Home /News /nation /

S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम का पहला बेड़ा पंजाब सेक्टर में होगा तैनात, चीन-पाकिस्तान को मिलेगी चुनौती

S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम का पहला बेड़ा पंजाब सेक्टर में होगा तैनात, चीन-पाकिस्तान को मिलेगी चुनौती

S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम का पहला बेड़ा पंजाब सेक्टर में होगा तैनात

S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम का पहला बेड़ा पंजाब सेक्टर में होगा तैनात

India deploys first S-400 air defence missile system in Punjab: भारतीय वायुसेना S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम की पहली स्क्वॉड्रन को पंजाब सेक्टर में तैनात करने जा रही है. सरकारी सूत्रों ने बताया कि एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम की पहली स्क्वॉड्रन को पंजाब में तैनात किया जाएगा. इस एयर डिफेंस सिस्टम की तैनाती से चीन और पाकिस्तान से आसमान के जरिए मिलने वाली हर चुनौती से निपटने में आसानी होगी. रूस से मिलने वाले इस मिसाइल सिस्टम के पार्ट इस महीने की शुरुआत में भारत पहुंचना शुरू हो गए है और इसकी यूनिट को अगले कुछ सप्ताह में ऑपरेशनलाइज्ड किए जाने की उम्मीद है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: देश के एयर डिफेंस सिस्टम को मजबूती देते हुए भारतीय वायुसेना (IAF) S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम (S-400 Air Defence Missile System) की पहली स्क्वॉड्रन को पंजाब सेक्टर में तैनात करने जा रही है. इंडियन एयरफोर्स के इस कदम से चीन और पाकिस्तान (China and Pakistan) की ओर से आसमान के जरिए आने वाली हर चुनौती से निपटने में मदद मिलेगी. सरकार के सूत्रों ने न्यूज एजेंसी एएनआई को इस बात की जानकारी दी.

    सरकारी सूत्रों ने बताया कि एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम की पहली स्क्वॉड्रन को पंजाब में तैनात किया जाएगा. इस एयर डिफेंस सिस्टम की तैनाती से चीन और पाकिस्तान से आसमान के जरिए मिलने वाली हर चुनौती से निपटने में आसानी होगी.

    4 अलग-अलग मारक क्षमता वाली मिसाइलों से लैस एयर डिफेंस सिस्टम
    रूस से मिलने वाले इस मिसाइल सिस्टम के पार्ट इस महीने की शुरुआत में भारत पहुंचना शुरू हो गए है और इसकी यूनिट को अगले कुछ सप्ताह में ऑपरेशनलाइज्ड किए जाने की उम्मीद है. भारत ने रूस के साथ इस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम को लेकर 35 हजार करोड़ रुपए की डील की है. इस करार के तहत रूस, भारत को इस मिसाइल सिस्टम की 5 स्क्वॉड्रन सौंपेगा. इस मिसाइल सिस्टम की मदद से आसमान से आने वाले खतरे को 400 किलोमीटर की दूरी तक मार गिराया जा सकता है.

    यह भी पढ़ें: BSF महिला कांस्टेबलों ने पाक से आए ड्रोन पर फायरिंग कर, वापस सीमा पार भेजा

    इस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम की पहली स्क्वॉड्रन की डिलीवरी इस साल के अंत तक होने की उम्मीद है. सूत्रों ने बताया कि इस मिसाइल सिस्टम के उपकरणों को समुद्र और एयर रूट्स से भारत लाया जा चुका है. सूत्रों ने यह भी बताया कि इस पहली स्क्वॉड्रन की तैनाती के बाद, भारतीय वायुसेना अपना ध्यान पूर्वी सीमाओं पर केंद्रित करना शुरू करेगी.

    भारतीय वायुसेना के अधिकारियों और कर्मचारियों ने रूस जाकर इस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम के संबंध में ट्रेनिंग ली है. रूस से मिलने वाले इस मिसाइल सिस्टम की बदौलत दक्षिण एशिया में भारतीय सेना की ताकत में इजाफा होगा. इस एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम की मदद से आसमान से आने वाले दुश्मन देश के एयरक्राफ्ट और क्रूज मिसाइल को 400 किलोमीटर की दूरी तक मारा जा सकता है. यह मिसाइल सिस्टम 4 अलग-अलग प्रकार की मिसाइलों से लैस होगा. जिनकी मारक क्षमता क्रमशः 400, 250 और 120 व 40 किलोमीटर तक होगी.

    Tags: IAF, Indian army, S-400 Missile System

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर