नेपाल में नए नक्शे पर वोटिंग आज, भारत ने दिलाई सांस्कृतिक संबंधों की याद

नेपाल में नए नक्शे पर वोटिंग आज, भारत ने दिलाई सांस्कृतिक संबंधों की याद
भारत ने नेपाल को पुराने संबंधों की याद दिलाई है.

भारत (India) ने साफ कर दिया है कि वो नेपाल (Nepal) के साथ दोस्ताना संबंध (Friendly Relations) चाहता है. सीमा विवाद (Border Dispute) का हल बातचीत के जरिये ही निकाला जा सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. नेपाल (Nepal) के नए राजनीतिक नक्शे (Political Map) को कानूनी जामा पहनाने के लिए वहां के सांसद आज वोटिंग करेंगे. माना जा रहा है कि इस वोटिंग में नेपाल का नया नक्शा पास हो सकता है, जिसके बाद भारत से विवाद बढ़ सकता है. इस बीच विवाद न खड़ा करने के लिए भारत की तरफ से नेपाल को पुराने सांस्कृतिक संबंधों की याद दिलाई गई है.

क्या बोला भारत
भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा है-हमने हमारी स्थिति नेपाल के सामने बिल्कुल स्पष्ट कर दी है. हम चाहते हैं कि नेपाल के साथ पुराने सांस्कृतिक और दोस्ताना संबंध बने रहें. गौरतलब है कि नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने भी कहा था कि अगर भारत बातचीत में दिलचस्पी दिखाएगा तो इस मसले का हल निकाला जा सकता है. भारत ने लगातार इस मसले के समाधान के लिए बातचीत पर जोर दिया है.


कोरोना संकट में दी गई मदद की दिलाई याद


इस बीच भारत की तरफ से नेपाल को कोरोना संकट के दौरान दी गई मदद की याद भी दिलाई गई है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव के मुताबिक, 'हमने नेपाल में 25 टन मेडिकल उपकरण पहुंचाए थे. इनमें बड़ी मात्रा में पैरासीटामॉल और हाइड्रोक्लोरोक्विन दवाएं शामिल थीं. साथ ही टेस्ट किट और कोरोना के इलाज से जुड़ी सामग्री बड़ी मात्रा में थी.'

नेपाल उन पहले देशों में शामिल था, जिन्हें भारत की तरफ से हाइड्रोक्लोरोक्विन दवाओं की सप्लाई की गई. साथ ही भारत ने विदेशों में फंसे नेपाली नागरिकों को निकालने में भी बड़े स्तर पर मदद की है. भारत ने सीमा विवाद के दौरान भी खयाल रखा है कि किसी भी जरूरी चीज की सप्लाई न रोकी जाए. भारत ने मानवीयता को सबसे ऊपर रखा है.

सीतामढ़ी की अप्रत्याशित घटना
इस बीच बिहार के सीतामढ़ी जिले शुक्रवार को बेहद अप्रत्याशित खबर सामने आई थी. भारत-नेपाल सीमा पर नेपाल पुलिस की ओर से जबरदस्‍त फायरिंग की गई. फायरिंग की इस घटना में जहां 4 भारतीयों को गोली लगी है, वहीं एक शख्स की मौत भी हो गई है. फायरिंग की इस घटना के बाद से सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है.

नए मैप ने बिगाड़े भारत-नेपाल के संबंध
भारत का कहना है कि इस पूरे मसले की वजह से दोनों देशों के बीच विश्वास का संकट पैदा हुआ है. बातचीत से पहले नेपाल को भारत का भरोसा जीतना होगा. नए नक्शे में नेपाल ने कुल 395 वर्गकिलोमीटर के इलाके को अपने हिस्से में दिखाया है. इसमें लिम्पियाधुरा, लिपुलेख और कालापानी के अलावा गुंजी, नाभी और काटी गांव भी शामिल हैं. नेपाल ने अपने नक्शे में कालापानी के 60 वर्गकिलोमीटर को अपना बताया है. इसी तरह से लिम्पियाधुरा के 395 वर्गकिलोमीटर पर नेपाल ने अपना दावा जताया है.

ये भी पढ़ें- 

RBI अब कर रहा है बैंक अधिकारियों की उम्र सीमा में बदलाव की तैयारी!

कोरोना के नए मरीजों में रिकॉर्ड इज़ाफा, लेकिन कई राज्यों ने घटा दिए टेस्ट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज