भारत, रूस अपने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूती एवं विविधता प्रदान करना चाहते हैं : मोदी

News18Hindi
Updated: September 3, 2019, 4:10 PM IST
भारत, रूस अपने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूती एवं विविधता प्रदान करना चाहते हैं : मोदी
मोदी की रूस यात्रा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की रूस यात्रा से दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को विविधता और रिश्तों को और मजबूती मिलेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2019, 4:10 PM IST
  • Share this:
नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मंगलवार को कहा कि वह पूर्वी आर्थिक मंच (Economic forum) की बैठक में हिस्सा लेने के लिये अपनी ब्लादिवोस्तोक (Vladivostok) यात्रा के दौरान रूसी राष्ट्रपति (President of Russian) ब्लादीमिर पुतिन (Vladimir Putin) के साथ आपसी हितों से जुड़े क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दों (International issues) पर चर्चा को लेकर बहुत ही पॉजिटिव हैं.  प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी यह यात्रा दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों को विविधता प्रदान करने और रिश्तों को और मजबूत बनाने की इच्छा को प्रदर्शित करती है. मोदी की रूस के इस सुदूर पूर्वी क्षेत्र की यात्रा किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली यात्रा है.

प्रधानमंत्री ने बुधवार से शुरू होने वाली अपनी दो दिवसीय यात्रा पर रवाना होने से पहले अपने बयान में कहा कि मैं अपने मित्र राष्ट्रपति पुतिन के साथ हमारे द्विपक्षीय संबंधों तथा आपसी हितों से संबंधित क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय मुद्दों के सभी आयामों पर चर्चा को लेकर आशान्वित हूं.

ब्लादिवोस्तोक में मोदी 5वीं पूर्वी आर्थिक मंच की बैठक में राष्ट्रपति पुतिन के निमंत्रण पर मुख्य अतिथि के रूप में हिस्सा लेंगे. वे व्लादिवोस्तोक में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ 20 वीं वार्षिक द्विपक्षीय शिखर बैठक करेंगे. मोदी और पुतिन देश के एक प्रमुख पोत निर्माण यार्ड का भी संयुक्त दौरा करेंगे.

मोदी ने कहा कि मैं पूर्वी आर्थिक मंच की बैठक में हिस्सा लेने वाले वैश्विक नेताओं के साथ बैठक तथा इसमें हिस्सा लेने वाले भारतीय उद्योगों एवं कारोबारी प्रतिनिधियों से चर्चा के लिए भी उत्सुक  हूं. यह मंच रूस के सुदूर पूर्वी क्षेत्र में कारोबार एवं निवेश अवसरों के विकास पर जोर देने तथा इस क्षेत्र में भारत और रूस के बीच साझा लाभ के लिये सहयोग बढ़ाने का व्यापक अवसर प्रदान करता है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के बीच बहुत अच्छे संबंध हैं. दोनों देशों के बीच रक्षा, असैन्य परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग जैसे सामरिक क्षेत्रों में व्यापक सहयोग हैं. हमारे बीच कारोबार एवं निवेश के क्षेत्र में गहरे संबंध है.

ये भी पढ़ें : कैबिनेट बैठक के फैसले: IDBI बैंक को मिलेंगे 9257 करोड़ रुपये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 4:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...