संयुक्त राष्ट्र में भारत ने कहा- अल्पसंख्यकों के लिए 'किलिंग फील्ड' बन गया है पाकिस्तान

संयुक्त राष्ट्र में भारत की ओर से जवाब देते पवन बधे (ANI)
संयुक्त राष्ट्र में भारत की ओर से जवाब देते पवन बधे (ANI)

पाकिस्तान पर भारत ने मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के 45वें सत्र में निशाना साधा है. भारत ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़ाने के लिए भारतीय केंद्र शासित प्रदेश (Jammu & Kashmir और Ladakh) के हिस्सों में बड़े पैमाने पर प्रशिक्षण शिविर और लांचपैड बना रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2020, 8:40 AM IST
  • Share this:
संयुक्त राष्ट्र. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में पाकिस्तान (Pakistan) को मुंहतोड़ जवाब देते हुए भारत ने जवाब देने के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए कहा है कि पड़ोसी मुल्क 'अल्पसंख्यकों' के लिए 'किलिंग फील्ड' यानी मारे जाने का क्षेत्र का बन गया है. भारत ने कहा कि आतंकियों के लिए पाकिस्तान एक सेफ हार्बर यानी सुरक्षित बंदरगाह बन चुका है. भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की डेमोग्राफी बदलने का आरोप लगाते हुए कहा कि यूनाटेड नेशन ह्यूमन राइट्स काउंसिल (UNHRC)में कहा कि जम्मू और कश्मीर और लद्दाख के जिन इलाकों पर पाकिस्तान ने कब्जा किया है वहां हर चार में तीन आदमी बाहरी है.

भारत ने कहा कि एक ओर जहां जम्मू और कश्मीर और लद्दाख के पाकिस्तान के कब्जे वाले हिस्सों में नागरिक, राजनीतिक और संवैधानिक अधिकार खत्म कर दिए गए हैं वहीं जानबूझकर खराब की गई आर्थिक नीतियों ने वहां के लोगों को गरीबी में रहने को मजबूर कर दिया है. भारत ने कहा कि भूमि अधिकारों की मांग करने वाले बाबा जन और अन्य लोगों को 40 साल की सजा सुना दी गई है.

पाक ने निगरानी सूची से करीब 4,000 आतंकवादियों के नामों को हटा दिया
भारतीय राजनयिक पवन बधे ने कहा, ' भारत के खिलाफ सीमा पार आतंकवाद को बनाए रखने के लिए जम्मू और कश्मीर और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेशों के पाकिस्तान के कब्जे वाले हिस्सों में आतंकवादियों के पूर्ण पैमाने पर प्रशिक्षण शिविर और लॉन्चपैड बनाए जा रहे हैं.'
यह भी पढ़ें: संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत की तारीफ, ब्रिटेन के PM ने बताया भरोसेमंद साथी



कहा कि पाकिस्तान ने कोरोना वायरस की आड़ में अपनी निगरानी सूची से करीब 4,000 आतंकवादियों के नामों को हटा दिया है. इस सूची से उन लोगों के नाम भी हटाए गए हैं, जो 2008 के मुंबई आतंकवादी हमलों के मास्टरमाइंड थे.

भारत ने कहा ऐसे समय पर जब दुनिया कोरोना वायरस में फंसी हुई है, पाकिस्‍तान ने चार हजार आतंकवादियों का नाम चुपके से लिस्‍ट से हटा दिया है. इसके जरिए पाकिस्‍तान चाहता है कि उसकी आतंकी फैक्‍ट्री चलती रहे. इसीलिए वह पाकिस्‍तान आतंकवादियों को शरण दे रहा है.

भारतीय प्रतिनिधि ने कहा कि पाकिस्‍तान में अभी भी अहमदिया समुदाय के लोग सबसे ज्‍यादा सताए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि हर साल हजारों की संख्‍या में ईसाई समुदाय के लोग सताए जाते हैं और उनमें से ज्‍यादातर की हत्‍या कर दी जाती है. बधे ने कहा कि परिषद के लिए यह चिंता की बात होनी चाहिए कि पाकिस्‍तान इस मंच का इस्‍तेमाल भारत के खिलाफ दुष्‍प्रचार के लिए करता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज