अपना शहर चुनें

States

मन की बात में PM मोदी ने युवा लेखकों के लिए नए प्लैटफॉर्म का ऐलान किया, कहा- स्वतंत्रता सेनानियों की वीरगाथाएं लिखें

प्रधानमंत्री ने आकाशवाणी के अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ का 73वें संस्करण जारी किया. (फोटो: Shutterstock)
प्रधानमंत्री ने आकाशवाणी के अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ का 73वें संस्करण जारी किया. (फोटो: Shutterstock)

Mann Ki Baat: 'यह क्रांतिकारियों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी.' उन्होंने कहा है कि लेखनी के जरिए आने वाली पीढ़ियों को नायकों के बारे में पता लगेगा. इस दौरान उन्होंने जानकारी दी कि इस साल युवा लेखकों के लिए इंडिया सेवंटी फाइव पहल की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2021, 3:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज भारतवासियों से मन की बात कार्यक्रम के जरिए रूबरू हुए. उन्होंने इस दौरान कई बड़े मुद्दों पर बात की. हालांकि, इस दौरान पीएम मोदी ने युवा लेखकों के लिए एक पहल इंडिया सेवंटी फाइव (India Seventy Five) की शुरुआत करने की बात भी की. इस पहल के जरिए उन्होंने देशवासियों और खासकर युवाओं से भारत की स्वतंत्रता के लिए शहीद हुए नायकों के बारे में लिखने के लिए कहा. खास बात है कि यह 2021 का पहला मन की बात कार्यक्रम था.

पीएम मोदी ने रविवार को देश के नागरिकों से स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों (Freedom Fighters) के बारे में लिखने के लिए कहा है. उन्होंने कहा 'मैं देश के सभी लोगों खासकर युवा साथियों से आह्वान करता हूं कि वे देश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के बारे में, आजादी से जुड़ी घटनाओं के बारे में लिखें.' पीएम ने कहा 'अपने इलाके में स्वतंत्रता संग्राम के दौरान बहादुरी की गाथाओं के बारे में किताब लिखें. यह क्रांतिकारियों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी.'

उन्होंने कहा है कि लेखनी के जरिए आने वाली पीढ़ियों को नायकों के बारे में पता लगेगा. इस दौरान उन्होंने जानकारी दी कि इस साल युवा लेखकों के लिए इंडिया सेवंटी फाइव पहल की जा रही है. उन्होंने बताया कि इससे हर राज्य और भाषाओं के युवा लेखकों को प्रोत्साहन मिलेगा. इस साल भारत आजादी (Indian Independence Day) की 75वीं सालगिरह मनाने जा रहा है.



यह भी पढ़ें: हावड़ा की रैली में अमित शाह बोले- कहां गया ममता दीदी का मां, माटी और मानुष का नारा
प्रधानमंत्री ने आकाशवाणी के अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ का 73वें संस्करण जारी किया. इस कार्यक्रम में उन्होंने गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई हिंसा, नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन और सोमवार को देश के सामने पेश होने जा रहे बजट को लेकर भी बात की. उन्होंने हिंसा के दौरान तिरंगे के अपमान पर दुख जताया है.


प्रधानमंत्री ने 23 जनवरी को स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन को ‘पराक्रम दिवस’ के तौर पर मनाए जाने और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की ‘शानदार परेड’ का भी जिक्र किया. उन्होंने भारतीय क्रिक्रेट टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में मिली जीत का भी उल्लेख किया.  इस कड़ी में प्रधानमंत्री ने संसद के बजट सत्र के पहले दिन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा संसद के संयुक्त सत्र में हुए संबोधन और पद्म पुरस्कारों की घोषणा का भी उल्लेख किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज