2022 तक पूरी तरह आत्मनिर्भर हो भारत, युवा फूट डालने वालों का करें मुकाबला: उपराष्ट्रपति

2022 तक पूरी तरह आत्मनिर्भर हो भारत, युवा फूट डालने वालों का करें मुकाबला: उपराष्ट्रपति
भारत 2022 तक सभी अर्थों में आत्मनिर्भर होना चाहिए: उप राष्ट्रपति (फाइल फोटो)

उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू (M. Venkaiah Naidu) ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिया गया "संकल्प से सिद्धि" का मंत्र, एक आह्वान है कि 2022 -23 तक एक नया भारत बनाने के लिए, हम अपनी विचार, व्यवहार, आचरण शैली में व्यापक बदलाव करें.

  • Share this:
नई दिल्ली. उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू (M. Venkaiah Naidu) ने शनिवार को स्वतंत्रता दिवस (Independence day) के अवसर पर कहा कि भारत 2022 तक सभी तरह से आत्मनिर्भर बनना चाहिए और युवाओं को यह संकल्प लेना चाहिए कि फूट डालने वाली ताकतों का वे मुकाबला करेंगे. उन्होंने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘आज हम अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं. इस अवसर पर हम उन राष्ट्रीय नायकों के दृढ़ विश्वास और संकल्प को नमन करते हैं. जिन्होंने हमें प्रगति करने की आज़ादी दिलाई, देश की खोई हुई गरिमा, प्रतिष्ठा का पुनरोत्थान करने की आज़ादी. इस अवसर पर हम विगत सात दशकों में देश की प्रगति का उत्सव मनाते हैं.’

वेंकैया नायडू ने कहा, ‘अंग्रेजी शासन ने हमें लूटने के अलावा, विदेशी सत्ता ने बांटो और राज करो की नीति के तहत, समाज में धर्म, जाति और क्षेत्रीय आधार पर विभाजन पैदा किया. इस स्वाधीनता दिवस पर हर भारतीय विशेषकर युवाओं को यह संकल्प लेना होगा कि वे आगे बढ़ कर लोगों में फूट डालने वाली हर ताकत का मुकाबला करेंगे और उसे विफल करेंगे.’ उप राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘विगत 5 वर्षों में हमने तेजी से आधारभूत अवसंरचना का विकास किया, सामाजिक सुरक्षा के तन्त्र को सुदृढ़ किया गया है. आज भारत में कोई भी गांव ऐसा नहीं है जहां विद्युतीकरण न हुआ हो और खुले में शौच से मुक्त घोषित न किया गया हो.’’

‘2022 तक भारत में कोई भी बेघर न हो’



उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिया गया "संकल्प से सिद्धि" का मंत्र, एक आह्वान है कि 2022 -23 तक एक नया भारत बनाने के लिए, हम अपनी विचार, व्यवहार, आचरण शैली में व्यापक बदलाव करें.’’ नायडू ने इस बात पर जोर दिया, ‘‘2022 तक भारत में कोई भी बेघर न हो, हर नागरिक को शिक्षा, स्वास्थ्य और रोज़गार के अवसर उपलब्ध हों, स्वच्छ पीने का पानी, पौष्टिक साफ भोजन, स्वच्छता सुलभ हो. 2022 तक भारत हर क्षेत्र में, हर अर्थों में आत्म निर्भर हो.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज