Home /News /nation /

बड़ी गोली, शार्प निशाना, 3 फुटबॉल ग्राउंड की रेंज, जानें भारत ने AK-203 को क्यों चुना

बड़ी गोली, शार्प निशाना, 3 फुटबॉल ग्राउंड की रेंज, जानें भारत ने AK-203 को क्यों चुना

असॉल्ट राइफल AK-203 पर भारत-रूस में हुआ बड़ा करार. (फाइल फोटो)

असॉल्ट राइफल AK-203 पर भारत-रूस में हुआ बड़ा करार. (फाइल फोटो)

India-Russia mega deal AK 203: 6 लाख से ज्यादा AK-203 असॉल्ट राइफल का ज्वाइंट प्रोडक्शन उत्तर प्रदेश के अमेठी में किया जाएगा. यहां पर भारतीय सुरक्षा बलों के लिए 5 हजार करोड़ की लागत की असॉल्ट राइफल्स तैयार की जाएंगी. दोनों देशों के बीच 10 वर्षों तक सैन्य सहयोग को लेकर भी समझौता हुआ. 10 साल का पैक्ट पहले से जारी फ्रेमवर्क का हिस्सा है और इसका रिन्यूअल किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. AK-203 असॉल्ट राइफल (AK-203 Assault Rifles) के विनिर्माण को लेकर भारत और रूस के बीच सोमवार को मेगा डील हुई है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने अपने रूसी कमकक्ष जनरल सर्गेई शोईगू (General Sergey Shoigu) के साथ 6 लाख AK-203 असॉल्ट राइफल के सौदे पर हस्ताक्षर किए. ये मेगा डील सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन की मुलाकात के पहले हुई.

    रक्षा मंत्री राजानाथ सिंह ने ट्विटर पर ‘मजबूत समर्थन’ के लिए रूस को धन्यवाद कहा. उन्होंने लिखा, ‘रूस की तरफ से मिले मजबूत समर्थन का भारत अभिवादन करता है. हम आशा करते हैं कि हमारे सहयोग से पूरे क्षेत्र में शांति, समृद्धि और स्थायित्व आएगा.’

    ज्वाइंट प्रोडक्शन उत्तर प्रदेश के अमेठी में किया जाएगा
    6 लाख से ज्यादा AK-203 असॉल्ट राइफल का ज्वाइंट प्रोडक्शन उत्तर प्रदेश के अमेठी में किया जाएगा. यहां पर भारतीय सुरक्षा बलों के लिए 5 हजार करोड़ की लागत की असॉल्ट राइफल्स तैयार की जाएंगी. दोनों देशों के बीच 10 वर्षों तक सैन्य सहयोग को लेकर भी समझौता हुआ. 10 साल का पैक्ट पहले से जारी फ्रेमवर्क का हिस्सा है और इसका रिन्यूअल किया गया है.

    इस एग्रीमेंट पर ‘इंडिया रशिया इंटर-गवर्नमेंटल कमीशन ऑन मिलिट्री एंड मिलिट्री टेक्निकल कोऑपरेशन (IRIGC-M&MTC)’ की बैठक में हुआ. रक्षा मंक्षी राजनाथ सिंह ने अपने रूसी समकक्ष के साथ बैठक की सहअध्यक्षता की.

    ये भी पढ़ें: भारत और रूस के बीच कई समझौतों पर हुए दस्तखत, दोनों देशों के बीच हुई 2+2 बैठक

    3 फुटबॉल ग्राउंड जितनी रेंज, बेहद हल्की
    AK-203 असॉल्ट राइफल कलाश्निकोव सीरीज की सबसे आधुनिक और घातक राइफल है. 7.62 X 39mm कैलिबर वालीAK-203 राइफल तीन दशक पहले शामिल इंसास राइफल (INSAS Rifle) की जगह लेंगी. ये असॉल्ट राइफल्स घुसपैठ तथा आतंकवाद रोधी अभियान में भारतीय सेना की ताकत को बढ़ाएंगे. इसकी रेंज 300 लगभग मीटर यानी तीन फुटबॉल ग्राउंड के बराबर है.

    इंसास के मुकाबले से ज्यादा घातक और छोटी है AK-203
    इंसास राइफल की तुलना में AK-203 असॉल्ट राइफल छोटी, हल्की और ज्यादा घातक है. AK-203 का वजन 3.8 किलोग्राम है, जबकि इंसास राइफल का वजन बिना मैगजीन और बेयोनेट के भी 4.15 किलोग्राम होता है. वहीं इंसास की लंबाई 960 मिलीमीटर होती है, जबकि AK-203 बस 705 मिलिमीटर लंबी है.

    7.62MM की गोली फायर की जा सकती है
    इस असॉल्ट राइफल ms 7.62MM की गोली फायर की जा सकती है जिसकी बेधने की क्षमता अन्य कई असॉल्ट राइफल्स के मुकाबले बेहतर है. ये 5.56 MM की छोटी गोली भी फायर कर सकती है.

    Tags: AK 203 assault Rifle, Rajnath Singh

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर