इफ्तार पार्टी में मेहमानों से बदसलूकी पर भारत ने कहा- पाकिस्तान ने लांघी सभी सीमाएं

भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने शनिवार को सेरेना होटल में वार्षिक इफ्तार कार्यक्रम का आयोजन किया था, जिसमें पूरे पाकिस्तान से अतिथियों को आमंत्रित किया गया था.

News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 4:56 PM IST
News18Hindi
Updated: June 3, 2019, 4:56 PM IST
पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में शनिवार शाम भारतीय उच्चायोग की ओर से आयोजित इफ्तार में पहुंचे मेहमानों को पाकिस्तानी अधिकारियों की 'जबरदस्त बदसलूकी और धमकी' के मामले में भारत ने आपत्ति दर्ज कराई है.

भारतीय उच्चायोग ने रविवार को कहा कि उच्चायोग इस 'घृणित' घटना का विरोध करता है और मामले में 'तत्काल' जांच की मांग की है. भारतीय उच्चायोग ने एक बयान में कहा, 'मेहमानों को सुरक्षा एजेंसियों के हाथों प्रताड़ना झेलनी पड़ी और उन्हें धमकाया भी गया.'

उच्चायोग ने कहा कि कार्यक्रम में शरीक होने के लिए लाहौर और कराची तक से मेहमान आये थे, जिन्हें पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने धमकाया और जश्न में शामिल होने से 'बलपूर्वक' रोका. ऐसा लग रहा था कि पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने सेरेना होटल को पूरी तरह से घेर लिया है. इसके अनुसार, 'इफ्तार में बुलाये गये मेहमान कार्यक्रम में शामिल नहीं हों इसके लिये पाकिस्तानी सुरक्षा अधिकारियों ने काफी दिन पहले सुनियोजित अभियान शुरू किया था.'

'बहुत खराब बर्ताव किया और धमकाया'

उच्चायोग ने कहा कि सुरक्षा अधिकारी होटल के बाहर मुख्य सड़क पर थे और उन्होंने भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों और राजनयिकों के साथ 'बहुत खराब बर्ताव किया और उन्हें धमकाया'. उन्होंने सुरक्षा अधिकारियों से इस उत्पीड़न की वजह जानने की कोशिश की.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान के इस खिलाड़ी का उड़ रहा था मजाक, बचाव में सामने आईं सानिया मिर्जा

उसके अनुसार, 'कुछ अधिकारियों के साथ धक्का-मुक्की, गाली गलौज की गई और बुरी तरह से धमकाया गया. कुछ मामलों में तो संबंधित अधिकारियों के मोबाइल फोन छीन लिए गए.' पाकिस्तान के राजनयिक समुदाय के कई मेहमानों को प्रताड़ना झेलनी पड़ी.
Loading...

राजनयिक मानदंडों का पूर्ण उल्लंघन - भारत

भारतीय उच्चायोग ने कहा कि यह राजनयिक मानदंडों का पूर्ण उल्लंघन है. पाकिस्तानी नागरिकों को वहां से जबरन हटाने के लिये सेरेना होटल के बाहर काफी तादाद में पाकिस्तानी सुरक्षा बल थे. इसके अनुसार सांसद, सरकारी अधिकारियों, मीडियाकर्मियों, सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारियों, कारोबारियों और सेवानिवृत्त राजनयिकों समेत 300 से अधिक पाकिस्तानी मेहमानों को कार्यक्रम में शरीक होने से रोका गया.

इस घटना का विरोध करते हुए भारतीय उच्चायोग ने कहा कि यह 'न सिर्फ राजनीतिक आचरण का उल्लंघन है बल्कि यह सभ्य व्यवहार के तमाम नियमों का उल्लंघन है... यह हमारे द्विपक्षीय संबंध के लिये ठीक नहीं है.' उसने पाकिस्तान सरकार से इन 'घृणित घटनाओं के संबंध में तत्काल जांच' कराने और जांच के नतीजों को साझा करने का अनुरोध किया.

यह भी पढ़ें:  NIA का दावा, भारत में नए रास्ते से नकली नोट भेज रही ISI और D कंपनी

भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने शनिवार को सेरेना होटल में वार्षिक इफ्तार कार्यक्रम का आयोजन किया था जिसमें पूरे पाकिस्तान से अतिथियों को आमंत्रित किया गया था. कार्यक्रम में शरीक होने वालों ने बताया कि इस आलीशान होटल के आसपास अतिरिक्त सुरक्षा इंतजाम किए गए थे.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 3, 2019, 7:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...