भारत की सख्ती से बौखलाये पाक का निशाना आम लोग, साल भर में सीजफायर में 21 की जान ली

भारत की सख्ती से बौखलाये पाक का निशाना आम लोग, साल भर में सीजफायर में 21 की जान ली
युद्धविराम उल्लंघन के लिए भारत ने पाक उच्चायोग के प्रभारी को तलब किया (सांकेतिक फोटो)

पाकिस्तानी उच्चायोग (Pakistan High Commission) के प्रभारी को बुलाकर कहा गया कि पाक सेनाओं की ओर से लगातार निर्दोष नागरिकों (Innocent Citizens) को निशाना बनाने के लिए भारत सबसे कठोर शब्दों के साथ युद्धविराम उल्लंघन (Ceasefire Violation) की निंदा करता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तानी उच्चायोग (Pakistan High Commission) के प्रभारी (Charge d'Affairs) को आज तलब किया गया था. ऐसा 17 जुलाई की रात में पाकिस्तानी सशस्त्र बलों (Pakistani Armed Forces) की ओर से बिना किसी वजह किए गये संघर्ष विराम उल्लंघन (ceasefire violation) में एक बच्चे सहित तीन निर्दोष नागरिकों की मौत पर जोरदार विरोध दर्ज कराने के लिए किया गया. पाकिस्तान (Pakistan) की इस करतूत मे एक अन्य बच्चे को गंभीर चोटें भी आई हैं. पाकिस्तान के सशस्त्र बलों की ओर से यह संघर्ष विराम का उल्लंघन 17 जुलाई 2020 में जम्मू और कश्मीर (Jammu and Kashmir) के कृष्णाघाटी सेक्टर में किया गया था. बताया गया है कि इस गोलीबारी में जिन तीन लोगो की मौत हुई है, वे सभी मृतक एक ही परिवार के थे.

पाकिस्तानी उच्चायोग (Pakistan High Commission) के प्रभारी को बुलाकर उनसे कहा गया कि पाकिस्तानी सेनाओं की ओर से लगातार भारत के निर्दोष नागरिकों (Innocent Citizens) को निशाना बनाने के लिए भारत सबसे कठोर शब्दों के साथ इसकी (युद्धविराम उल्लंघन की) निंदा करता है. पाकिस्तान की सेना (Pakistani Army) द्वारा निर्दोष नागरिकों को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है. इस वर्ष अकेले पाकिस्तानी सशस्त्र बलों की ओर से द्वारा 2711 से अधिक युद्धविराम उल्लंघन (Ceasefire Violation) हुए हैं, जिसमें 21 भारतीय मारे गए हैं और 94 घायल हुए हैं.

आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए पाक सेना के कवर फायर देने पर भी दर्ज कराया विरोध
भारत ने सीमा पार आतंकवादी घुसपैठ को पाकिस्तान की ओर से दिए जा रहे समर्थन का भी इस दौरान विरोध किया, जिसमें पाकिस्तानी सेना की ओर से आतंकियों को घुसपैठ करवाने के लिए की जाने वाली कवर फायरिंग भी शामिल है.
पाकिस्तान को नियंत्रण रेखा (LoC) और अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए 2003 के संघर्ष विराम समझौते का पालन करने के लिए भी इस दौरान कहा गया.



जम्मू-कश्मीर के पुंछ में गोलाबारी से प्रभावित परिवार को तीन लाख रुपये की अनुग्रह राशि
जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिला प्रशासन ने नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की गोलाबारी में मारे गए परिवार के तीन सदस्यों के निकटतम परिजन को तीन लाख रुपय की अनुग्रह राशि प्रदान की. आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि परिवार को रेड क्रॉस की ओर से 30 हजार रुपये नकद भी दिये गये.

यह भी पढ़ें: प्राइवेट मेडिकल कॉलेज 50% बिस्तर कोरोना के इलाज के लिए रिजर्व रखें- येदियुरप्पा

शुक्रवार की रात पाकिस्तान द्वारा दागे गए मोर्टार की चपेट में आकर कारमारा गांव निवासी एक दंपति और उनके किशोर बेटे की मौत हो गई. परिवार का एक अन्य सदस्य घायल हो गया. प्रवक्ता ने बताया कि पुंछ के उपायुक्त राहुल यादव ने आज पीड़ित परिवार को तीन लाख रुपय और रेड क्रॉस की ओर से 30 हजार रुपये नकद की अनुग्रह राशि दी. उन्होंने बताया कि यादव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने पीड़ित परिवार और उनके रिश्तेदारों से भेंट कर हर संभव सहायता का आश्वासन दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज