Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    भारत ने सुखोई-30 से किया ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण, जहाज को बनाया निशाना

    भारत ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के लड़ाकू विमान से दागे जा सकने वाले प्रारूप का परीक्षण किया
    भारत ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के लड़ाकू विमान से दागे जा सकने वाले प्रारूप का परीक्षण किया

    BrahMos Supersonic Cruise Missile: आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि मिसाइल ने पूरी सटीकता के साथ एक डूबते जहाज को निशाना बनाया और परीक्षण में वांछित नतीजे हासिल किये गये. सूत्रों ने बताया कि विमान तंजौर स्थित टाइगरशार्क्स स्कवाड्रन का था.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 30, 2020, 11:38 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल (BrahMos supersonic cruise missile) के लड़ाकू विमान से दागे जा सकने वाले प्रारूप का शुक्रवार को सफल परीक्षण किया. इसे एक सुखोई एमकेआई-30 विमान (Sukhoi MKI-30 Aircraft) से बंगाल की खाड़ी में दागा गया. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि मिसाइल ने पूरी सटीकता के साथ एक डूबते जहाज को निशाना बनाया और परीक्षण में वांछित नतीजे हासिल किये गये. सूत्रों ने बताया कि विमान तंजौर स्थित टाइगरशार्क्स स्कवाड्रन का था. विमान ने पंजाब में एक एयरबेस से उड़ान भरी और मिसाइल दागे जाने से पहले आसमान में ही विमान में ईंधन भरा गया. पूर्वी लद्दाख में सीमा पर चीन के साथ भारत का गतिरोध जारी रहने के बीच यह परीक्षण किया गया है. अधिकारियों ने बताया कि सुखोई एमकेआई-30 विमान ने करीब तीन घंटे की यात्रा की, जिसके बाद यह मिसाइल दागी गई.

    ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का अरब सागर में सफलतापूर्वक परीक्षण
    सैन्‍य शक्ति का विस्‍तार कर रहे भारत को एक और बड़ी सफलता मिली है. भारतीय नौसेना ने अभी कुछ दिन पहले अरब सागर में अपने जंगी पोत आईएनएस चेन्‍नई से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया. जानकारी दी गई है कि ब्रह्मोस ने अपने टार्गेट पर पूरी सटीकता के साथ मार किया है. इससे नौसेना की ताकत कई गुना बढ़ गई है. इसे जंगी जहाजों में सुरक्षा के लिए लगाए जाने की बात सामने आ रही है. यह लंबी दूरी की घातक मिसाइल है.

    ये भी पढ़ें: भारतीय वायुसेना बनेगी और ताकतवर, 2022 तक रुद्रम मिसाइल भी बेड़े में होगी शामिल
    ये भी पढ़ें: लद्दाखी लड़के ने ITBP सैनिकों को दी सलामी तो BJP सांसद ने उसे दिए ढाई लाख



    इससे भारत ने शुक्रवार देर रात ओडिशा के एक परीक्षण केंद्र से सेना के प्रायोगिक परीक्षण के तहत परमाणु विस्‍फोटक ले जाने में सक्षम और स्वदेश में विकसित ‘पृथ्वी-2’ मिसाइल का सफल परीक्षण किया है. रक्षा सूत्रों ने बताया कि सतह से सतह पर मार करनेवाली अत्याधुनिक मिसाइल को बालासोर के नजदीक चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र (आईटीआर) के प्रक्षेपण परिसर-3 से रात लगभग साढ़े सात बजे दागा गया और परीक्षण सफल रहा.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज