Home /News /nation /

भारत 2030 तक विश्व की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में होगा शामिल: राजनाथ

भारत 2030 तक विश्व की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में होगा शामिल: राजनाथ

(फाइल फोटो- राजनाथ सिंह)

(फाइल फोटो- राजनाथ सिंह)

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि अगर वृद्धि की मौजूदा दर कायम रही तो भारत 2030 तक विश्व की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो जायेगा.

    केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि अगर वृद्धि की मौजूदा दर कायम रही तो भारत 2030 तक विश्व की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो जायेगा. देहरादून में चल रही दो दिनी 'इन्वेस्टर्स समिट' के आखिरी दिन समापन सत्र को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'भारत आज सबसे तेज गति से विकसित हो रही अर्थव्यवस्थाओं में से एक है.

    (ये भी पढ़ें- ‘सुशासन बाबू’ और ‘जुमला बाबू’ की सरकार में महिलाएं सुरक्षित नहीं: कांग्रेस)


    विश्व की 10 सबसे बडी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में हम नवें नम्बर पर थे लेकिन पिछले कुछ वर्षों में उछाल भर कर हम छठे स्थान पर पहुंच गये हैं.' उन्होंने कहा, 'अगर इसी गति से हमारी अर्थव्यवस्था चलती रही तो 2030 तक हम विश्व की सबसे बडी तीन अर्थव्यवस्थाओं में से एक होंगे.'

    विश्व भर के निवेशकों के लिये भारत में निवेश को मौजूदा समय को सर्वश्रेष्ठ बताते हुए सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'विश्वसनीय' अगुवाई में देश में इस समय प्रमुख संरचनात्मक और प्रक्रियात्मक सुधार चल रहे हैं. उन्होंने कहा, 'आप देखेंगे कि आने वाले समय में जीएसटी देश के लिये वरदान साबित होगा.'

    ( ये भी पढ़ें- भारत समेत वो चार देश, जो दुूनिया में सबसे ज्यादा खाना पैदा करते हैं)

    राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार की नीतियों पर बहस हो सकती है लेकिन प्रधानमंत्री की विश्वसनीयता कभी संदेह में नहीं रही. उन्होंने कहा कि यह उनकी असंदिग्ध विश्वसनीयता ही है कि कई कारकों की वजह से डॉलर के विरूद्ध रूपये की गिरावट के बावजूद देश में निवेशकों का भरोसा बना हुआ है .

    निवेशकों को उत्तराखंड में आमंत्रित करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में पर्यटन और वैलनैस के क्षेत्र में बडी संभावनायें हैं और यहां की अच्छी कानून व्यवस्था उन्हें कभी शिकायत का मौका नहीं देगी.

    उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत देश भर में डेढ लाख वैलनैस सेंटर बनने हैं और निवेशकों के पास इस क्षेत्र में बहुत मौके हैं क्योंकि उत्तराखंड योग, ध्यान और आयुर्वेद की राजधानी है.

    (ये भी पढ़ें- आयुष्मान भारत से जोड़ने से पहले 400 निजी अस्पतालों व नर्सिंग होम्स की जांच)

    देश का गृह मंत्री होने के नाते उन्होंने निवेशकों को भरोसा दिलाया कि निवेशकों को आवेदन करने के 60 दिन के भीतर उनके मंत्रालय से सुरक्षा मंजूरी मिल जायेगी.

    सिंह ने कहा, ' सुरक्षा मंजूरी मिलने में गृह मंत्रालय से होने वाली देरी निवेशकों के लिये एक बडा सिरदर्द है. मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि ज्यादा से ज्यादा 60 दिनों में आपको यह मंजूरी मिल जायेगी और अगर नहीं मिले तो आप मेरे पास आ सकते हैं.' मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि 1.20 लाख करोड रूपये से ज्यादा के निवेश को आकर्षित कर इन्वेस्टर्स समिट ने अपना उददेश्य हासिल कर लिया है.

    रावत ने कहा, ' हमें 1,20,150 करोड रूपये के निवेश प्रस्ताव मिले हैं और विभिन्न क्षेत्रों में अग्रणी कंपनियों के साथ कुल 601 एमओयू पर हस्ताक्षर हो चुके हैं.' उन्होंने इसके लिये अपने अधिकारियों की टीम और गृह मंत्री का आभार भी जताया जिन्होंने इस समिट में आने के उनके आग्रह को तत्काल स्वीकार कर लिया.

    रावत ने राजनाथ सिंह को अपना बडा भाई बताया और कहा कि उनसे उन्होंने सांगठनिक मामलों को अच्छी तरह से संभालने की कला सीखी है.

    ( ये भी पढ़ें- ईरान से तेल खरीदता रहा भारत तो क्या होगा...)

    Tags: Bharat, Mutual fund investors, Pm narendra modi, Rajnath Singh, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर