चीन को जवाब: पैंगोंग झील समेत लद्दाख में बनेंगे 4 नए एयरपोर्ट, 37 हेलीपैड भी मंजूर

लद्दाख में वायुसेना को मिलेगी और मजबूती. (File pic)

India-China Rift: लद्दाख (Ladakh) में एलएसी (LAC) के पास 37 हेलीपैड भी तैयार किए जाएंगे. सूत्रों के अनुसार यह हेलीपैड चिनूक हेलिकॉप्टरों की लैंडिंग के लिहाज से तैयार किए जाएंगे.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. चीन (China) को करारा जवाब देते हुए भारत ने सुरक्षा की दृष्टि से लद्दाख (Ladakh) में चार नए एयरपोर्ट (Airport in Ladakh) बनाने का फैसला लिया है. इनमें से एक एयरपोर्ट लद्दाख की पैंगोंग झील के पास भी बनाया जाएगा. इसी पैंगोंग झील (Pangong Tso) के इलाके में चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश भी की थी. केंद्र सरकारी की ओर से इन चारों एयरपोर्ट को मंजूरी मिल चुकी है. इसके साथ ही वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास भी 37 हेलीपैड तैयार किए जाएंगे. इनके जरिये चिनूक से सीमा की निगरानी की जाएगी.

    वहीं सरकार के सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के लद्दाख दौरे के दौरान ही इस क्षेत्र को सैन्‍य नजरिये से विकसित किए जाने की सहमति बन गई थी. ऐसे में लेह-लद्दाख के भौगोलिक क्षेत्र को देखते हुए यहां वायुसेना को अधिक बल दिया जा सकता है. इसीलिए लद्दाख में 4 और नए एयरपोर्ट बनाए जाएंगे. अभी लेह में सिर्फ एक ही एयरपोर्ट है.

    सूत्रों के अनुसार लद्दाख में पैंगोंग झील के पास चांगटांग क्षेत्र में एक नया एयरपोर्ट बनाया जाएगा. सांसद नामग्याल के मुताबिक लद्दाख की सीमाओं पर मौजूद हमारी सेनाएं बहुत मजबूती से डटी हुई हैं. अपनी सीमाओं को और मजबूत करने के लिए हमारी सरकार हमेशा से मजबूती से खड़ी है.

    एलएसी के पास 37 हेलीपैड भी तैयार किए जाएंगे. सूत्रों के अनुसार यह हेलीपैड चिनूक हेलिकॉप्टरों की लैंडिंग के लिहाज से तैयार किए जाएंगे. ताकि किसी सैन्‍य इमरजेंसी के दौरान इनका बेहतर ढंग से इस्तेमाल किया जा सके. इसके अलावा पूरे बॉर्डर के इलाके में वायुसेना की मजबूती के लिहाज से कई इलाकों को चिन्हित किया गया है. वहां सेना तैनात की जाएगी. ताकि दुश्‍मन पर निगरानी भी रखी जा सके.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.