लाइव टीवी

भारत को तीन साल में मिलेगी मिलिट्री कमांड, सेना में होगा सबसे बड़ा पुनर्गठन

News18Hindi
Updated: February 4, 2020, 10:44 PM IST
भारत को तीन साल में मिलेगी मिलिट्री कमांड, सेना में होगा सबसे बड़ा पुनर्गठन
सीडीएस का पद ग्रहण करते हुए जनरल बिपिन रावत ने सैन्य कमांंड के गठन की जरूरत को बताया था. फाइल फोटो.पीटीआई

देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) ने कहा, थिएटर कमांड्स (Theater Commands) बनाए जाएंगे ताकि युद्ध के दौरान दुश्मन की हालत खस्ता करने के लिए रणनीति आसानी से बन सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2020, 10:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तीन साल के अंदर भारत में मिलिट्री कमांड (Militry commands) मिल जाएगी. भारत के सैन्य इतिहास में सबसे बड़ा पुनर्गठन है. इसके अंतर्गत सेना, वायुसेना और नौसेना के संचालन को एकीकृत करना है. सीडीएस का पदभार ग्रहण करते समय जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) ने कहा था कि कि उनका लक्ष्य सैन्य ताकत को एक करना, लॉजिस्टिक जनशक्ति को एकीकृत करना है. हमार लक्ष्य है कि खर्च में कमी लाई जाए, मैनपावर को युक्तिसंगत बनाया जाए और सुनिश्चित किया जाए कि सशस्त्र बल एक एकजुट इकाई के रूप में लड़ें.

देश में अभी 17 सिंगल कमांड्स हैं. रक्षा सूत्रों की माने तो इन सिंगल कमांड्स को मिलाकर कम से कम चार या छह थिएटर कमांड्स बनाए जा सकते हैं.

सैन्य कमांड्स (Military commands) की संख्या को अभी अंतिम रूप नहीं दिया गया है. NDTV की रिपोर्ट के अनुसार, हालांकि कहा जा रहा है कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ वेस्टर्न थियेटर कमांड (Western Theatre Command) और नॉर्दर्न थियेटर कमांड (Northern Theatre Command) बनाने की संभावना पर भी विचार कर रहे हैं. ईस्टर्न थियेटर कमांड चीन फ्रंटियर के साथ सीमावर्ती इलाकों को देखेगा. हालांकि ये थियेटर कमांड कितने होंगे, इस पर अभी कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है. जनरल बिपिन रावत ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बनते ही कहा कि भविष्य में देश में थिएटर कमांड्स (Theater Commands) बनाए जाएंगे ताकि युद्ध के दौरान दुश्मन की हालत खस्ता करने के लिए रणनीति आसानी से बन सके.

भारत में एक पेनिंसुला कमान, वायु रक्षा कमान, अंतरिक्ष कमान और एक बहु-सेवा रसद कमान और प्रशिक्षण कमान भी होगी. प्रत्येक थिएटर कमांड वायु सेना का भी अभिन्न हिस्सा होगा. इसमें जरूरत के आधार पर अतिरिक्त विमान भी तैनात किए जा सकते हैं.  इस बारे में तीनों सेना के प्रमुखों और सीडीएस के बीच बातचीत हो रही है. बातचीत में इस बात पर जोर दिया जाएगा कि सैन्य कमान का गठन एक निश्चित समय सीमा में किया जाए.

यह भी पढ़ें...

एकतरफा प्यार में सिरफिरे ने महिला प्रोफेसर को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया

आपने भी ली है LIC पॉलिसी तो जानिए सरकार के इस फैसले से क्या होगा असर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 8:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर