लाइव टीवी

SCO मीटिंग के लिए PAK पीएम इमरान खान को दिल्ली आने का न्योता दे सकता है भारत!

News18Hindi
Updated: January 16, 2020, 6:46 PM IST
SCO मीटिंग के लिए PAK पीएम इमरान खान को दिल्ली आने का न्योता दे सकता है भारत!
PAK पीएम इमरान खान को दिल्ली आने का न्योता दे सकता है भारत!

SCO मीटिंग के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को भी दिल्ली आने का न्योता भिजवाया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 16, 2020, 6:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. शंघाई कॉपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SC0) की मीटिंग के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को भी दिल्ली आने का न्योता भिजवाया जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक SCO की बैठक इस साल के आखिर में दिल्ली में आयोजित की जा सकती है. इस मीटिंग के लिए औपचारिक न्योता जल्दी ही SCO में शामिल सभी देशों को भिजवाया जा सकता है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान इसकी जानकारी दी है. रवीश कुमार से जब पाकिस्तान को न्योता देने की बाबत सवाल किया गया तो उन्होंने जवाब दिया- 'सभी आठ देशों और 4 ऑब्जर्वर देशों को न्योता भिजवाया जाएगा.' बता दें कि SCO में चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, तजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, पाकिस्तान और भारत शामिल हैं. जबकि चार ऑब्जर्वर देशों में अफगानिस्तान, ईरान, बेलारूस और मंगोलिया शामिल किए गए हैं.

Raveesh Kumar, MEA: As per the established practice & procedure within SCO all 8 members of SCO, as well as 4 observer states & other international dialogue partners will be invited to attend the meeting. https://t.co/28MY5TVOzW


चीन को लगाई फटकार
भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में कश्मीर का विषय उठाने की कोशिश में पाकिस्तान की मदद करने पर चीन को आड़े हाथ लिया और कहा कि चीन को वैश्विक आम-सहमति पर गंभीरता से सोचना चाहिए और भविष्य में इस तरह के कृत्य से बचना चाहिए. पाकिस्तान ने चीन की मदद से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बार-बार कश्मीर मुद्दे को उठाने का प्रयास किया है लेकिन उसे किसी का समर्थन नहीं मिला. ताजा प्रयास भी विफल हो गया क्योंकि 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद के अन्य सदस्यों को लगता है कि कश्मीर, भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दा है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक ब्रीफिंग में यूएनएससी में इस घटनाक्रम के बारे में पूछे जाने पर कहा कि सुरक्षा परिषद का बहुमत के साथ विचार है कि इस तरह के मुद्दों के लिए यह सही मंच नहीं है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने यूएनएससी का दुरुपयोग करने की कोशिश की. इस्लामाबाद के पास भविष्य में इस तरह की वैश्विक शर्मिंदगी से बचने का विकल्प है. कुमार ने कहा कि बेबुनियाद आरोप लगाने तथा परिदृश्य को बहुत चिंताजनक दर्शाने के पाकिस्तान के प्रयास विफल हो गए हैं क्योंकि उसकी प्रामाणिकता नहीं है. इस साल भारत में एससीओ के सदस्य देशों के प्रधानमंत्रियों की बैठक में पाकिस्तान को आमंत्रित किये जाने के प्रश्न पर कुमार ने कहा कि सभी आठ सदस्य देशों और चार पर्यवेक्षकों को आमंत्रित किया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 5:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर