Home /News /nation /

कोरोना महामारी के दौरान दुनिया में बेहतर देशों की सूची में भारत, रैंकिंग में सुधार: ब्लूमबर्ग रिपोर्ट

कोरोना महामारी के दौरान दुनिया में बेहतर देशों की सूची में भारत, रैंकिंग में सुधार: ब्लूमबर्ग रिपोर्ट

कोरोना महामारी के दौरान विश्व में बेहतर देशों की सूची में भारत, रैंकिंग में सुधार (सांकेतिक तस्वीर)

कोरोना महामारी के दौरान विश्व में बेहतर देशों की सूची में भारत, रैंकिंग में सुधार (सांकेतिक तस्वीर)

India upgrade its position in list of best places to be during-Corona Crisis: कोरोना महामारी के दौरान दुनिया के अच्छे और खराब देशों की सूची में भारत ने बेहतर प्रदर्शन किया है. ब्लूमबर्ग की कोविड रिसीलियंस रैंकिंग (Covid Resilience Ranking)में इंडिया ने बड़ी छलांग लगाई है. इस रैंकिंग से इस बात का पता चलता है कि देश में सामाजिक और आर्थिक परेशानी के बीच कोरोना वायरस संक्रमण को प्रभावी तरीके से नियंत्रित किया जा रहा है. इस लीग टेबल में विश्व की 53 अर्थव्यवस्थाओं का आकलन कोरोना कंटेनमेंट जोन, इकोनॉमी और अन्य पहलुओं के आधार पर किया गया.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: कोरोना महामारी (Corona Crisis) के दौरान विश्व में सबसे अच्छे और खराब स्थानों की सूची में भारत की रेटिंग बेहतर है. ब्लूमबर्ग की कोविड रिसीलियंस रैंकिंग (Covid Resilience Ranking) में इंडिया ने बड़ी छलांग लगाई है. हैरानी की बात है कि इस साल अप्रैल-मई में कोरोना की दूसरी लहर से भारत में हालात बेहद खराब हो गए थे. इसके बावजूद ब्लूमबर्ग की इस रैंकिंग में मंथली स्नेपशॉट के अनुसार भारत का स्थान 26वें पायदान पर है. यह दर्शाता है कि देश में सामाजिक और आर्थिक परेशानी के बीच कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को प्रभावी तरीके से नियंत्रित किया जा रहा है. इस लीग टेबल में विश्व की 53 अर्थव्यवस्थाओं का आकलन कोरोना कंटेनमेंट जोन, इकोनॉमी और अन्य पहलुओं के आधार पर किया गया.

    भारत में कोरोना संक्रमण के मामलों में गिरावट के बाद अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर लौट रही है. वहीं शुरुआत में धीमी रही कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार में भी तेजी आई है. अब तक 1 अरब वैक्सीन डोज लगाए जा चुके हैं. इसके अलावा बेहतर इम्युनिटी भी कोविड-19 संक्रमण में गिरावट का एक प्रमुख कारण रहा है.

    किन कारणों से बढ़ी इंडिया की रैंकिंग?
    इस कोविड रिसीलियंस रैंकिंग में 12 इंडिकेटर के आधार पर राष्ट्रों का आकलन किया गया है. इनमें भारत की रैंकिंग में सबसे अहम योगदान नवंबर में दुनिया के कई देशों से वैक्सीनेटेड नागरिकों के लिए अपनी सीमाओं को फिर खोलने के फैसले को लेकर रहा. इसी माह में फ्लाइट क्षमता को बढ़ाकर फिर से 2019 के स्तर तक पहुंचाने की रही. इससे लोगों को बिजनेस और यात्रा दोबारा से शुरू करने में मदद मिली. इसकी बदौलत भारत अब फ्लाइट कैपिसिटी रिकवरी इंडिकेटर में टॉप 10 की सूची में शामिल है.

    यह भी पढ़ें: हाई रिस्क वाले देशों से आई 11 फ्लाइट्स में मिले 6 यात्री संक्रमित: केंद्र

    भारत में अब आधिकारिक तौर पर कोरोना संक्रमण के रोजाना आने वाले मामलों में बड़ी गिरावट आई है जो कि जनसंख्या के अनुपात में काफी कम है. भारत में नवंबर में प्रति व्यक्ति संक्रमण की दर कम रही है. इसके अनुसार 1 लाख लोगों में से सिर्फ 23 लोग ही संक्रमित हैं. वहीं वित्तीय वर्ष 2022 में जीडीपी को लेकर 9.5% का अनुमान विश्व में सबसे अधिक है जो कि अर्थव्यवस्था के लिए बेहतर संकेत है.

    भारत में ताजा हालात क्या हैं?
    भारत में कोरोना महामारी को लेकर हालात अब सामान्य हैं. देश के ज्यादातर राज्यों में कोविड-19 प्रतिबंधों को धीरे-धीरे हटा दिया गया है. मॉल, स्कूल, रेस्टोरेंट, सिनेमा और बार फिर से खुल गए हैं. ज्यादातर ऑफिस के खुलने के बाद कर्मचारी अब काम पर लौटने लगे हैं. हालांकि ओमिक्रॉन वेरिएंट के सामने आने के बाद अथॉरिटी ने एयरपोर्ट पर फिर से सख्ती बढ़ा दी है. विदेशों से आने वाले नागरिकों के लिए कोविड-19 टेस्ट, क्वारंटाइन और होम आइसोलेशन जैसे नियमों को अनिवार्य कर दिया गया है.

    बहरहाल, इस रैंकिंग में और अधिक सुधार के लिए भारत को वैक्सीनेशन की दर को बढ़ाना होगा. क्योंकि देश में अब तक सिर्फ 32 फीसदी आबादी का ही पूर्ण टीकाकरण हुआ है और एक बड़ी तबके को वैक्सीन का दूसरा डोज दिया जाना बाकी है.

    Tags: Corona, COVID 19

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर