Home /News /nation /

Omicron से लड़ाई में अफ्रीकी देशों की मदद के लिए आगे आया भारत, की हरसंभव मदद की पेशकश

Omicron से लड़ाई में अफ्रीकी देशों की मदद के लिए आगे आया भारत, की हरसंभव मदद की पेशकश

अधिकांश देशों ने दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटीन अनिवार्य कर दिया है.(फाइल फोटो)

अधिकांश देशों ने दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटीन अनिवार्य कर दिया है.(फाइल फोटो)

Omicron, Omicron News, WHO, Omicron Flight Ban: विदेश मंत्रालय ने जानकारी देते हुए सोमवार को कहा कि अगर भविष्य में जरूरत पड़ी तो ओमिक्रॉन से निपटने के लिए भारत अफ्रीकी देशों की मदद करेगा. इसके लिए भारत आवश्यक जीवन रक्षक दवाएं, परीक्षण किट, दस्ताने, पीपीई किट और वेंटिलेटर जैसे मेडिकल उपकरण की आपूर्ति करने के लिए तैयार है. ओमिक्रॉन सामने आने के बाद दुनिया भर के अधिकतर देशों ने दक्षिण अफ्रीका से किनारा करते हुए प्रतिबंध लगा दिया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron Crisi) से पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है. यह वायरस सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका (South Africa) बोत्सवाना में पाया गया था. कई अफ्रीकी देशों में ओमिक्रॉन संक्रमण (Omicron Cases Update) के मामले सामने आ चुके हैं. अब अफ्रीका को लेकर भारत सरकार की तरफ से एक बड़ा ऐलान किया गया है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत ओमिक्रॉन के संक्रमण (Omicron Infection) से निपटने के लिए अफ्रीका (India Will Help South Africa) के प्रभावित देशों का समर्थन करने के लिए तैयार है. भारत सरकार मेड इन इंडिया टीकों की आपूर्ति के लिए तैयार है.

    ओमिक्रॉन सामने आने के बाद दुनिया भर के अधिकतर देशों ने दक्षिण अफ्रीका से किनारा करते हुए प्रतिबंध लगा दिया है. अब भारत सरकार ने अफ्रीकी देशों की मदद करने के लिए हाथ बढ़ाया है. विदेश मंत्रालय ने जानकारी देते हुए सोमवार को कहा कि “अगर भविष्य में जरूरत पड़ी तो ओमिक्रॉन से निपटने के लिए भारत अफ्रीकी देशों की मदद करेगा. इसके लिए भारत आवश्यक जीवन रक्षक दवाएं, परीक्षण किट, दस्ताने, पीपीई किट और वेंटिलेटर जैसे मेडिकल उपकरण की आपूर्ति करने के लिए तैयार है.” विदेश मंत्रालय की तरफ से बताया कि अगर जरूरत पड़ी को वायरस पर शोध उसके लक्षण को समझने के लिए भारतीय संस्थान अपने अफ्रीकी समकक्षों की सहयोग करने पर भी विचार करेंगे.

    गौरतलब है कि ओमिक्रॉन का सबसे पहले मामला अफ्रीका से सामने आया था. अब तक कुल 15 से अधिक देशों से ओमिक्रॉन के मामले सामने आ चुके हैं. विशेषज्ञों की मानें तो कोविड का यह नया वेरिएंट कोरोना के अब तक सबसे घातक वेरिएंट हैं. कोविड का डेल्टा वेरिएंट जितने लोगों को 100 में इंफेक्टेड करता है ओमिक्रॉन उतने लोगों को मात्र 15 में ही संक्रमित कर देता है.

    कई देशों ने फिर शुरू किया क्वारंटीन
    बता दें कि ओमिक्रॉन वायरस को लेकर हर देश सतर्कता बरता रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से भी इसे लेकर चिंता जाहिर की गई है. डब्ल्यूएचओ ने इसे वेरिएंट ऑफ कंसर्न कहा है. कोविड के नए वेरिएंट को लेकर कहा गया है कि अगर यह फैलता है तो इस बार इसके परिणाम काफी गंभीर हो सकते हैं. ओमिक्रॉन के सामने आने के बाद अब सभी देश दोबारा अपने यात्रा नियमों की समीक्षा कर रहे हैं. अधिकांश देशों ने दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटीन अनिवार्य कर दिया है.

    Tags: Omicron, Omicron variant, South africa

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर