चिंताओं का समाधान नहीं होने पर आरसीईपी से हटा भारत: विदेश मंत्री

विदेश मंत्री एस. जयशंकर  (फाइल फोटो)
विदेश मंत्री एस. जयशंकर (फाइल फोटो)

RCEP: एशिया-प्रशांत क्षेत्र (Indo-Pacific Region) के 15 देशों द्वारा आरसीईपी समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने के तीन दिन बाद जयशंकर ने यह टिप्पणी की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2020, 12:09 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. विदेश मंत्री एस. जयशंकर (Minister of External Affairs S Jaishankar) ने बुधवार को कहा कि भारत (India) पिछले वर्ष क्षेत्रीय विस्तृत आर्थिक साझेदारी (Regional Comprehensive Economic Partnership ) से इसलिए अलग हो गया था क्योंकि उसमें शामिल होने से देश की अर्थव्यवस्था पर काफी प्रतिकूल प्रभाव होता. ‘सेंटर फॉर यूरोपियन पॉलिसी स्टडीज’ (Center For European Policy Studies) की ओर से आयोजित ऑनलाइन चर्चा में जयशंकर ने संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में सुधार/बदलाव की पुरजोर सिफारिश करते हुए कहा कि एक या दो देशों को अपने फायदे के लिए प्रक्रिया को रोकने की इजाजत नहीं होनी चाहिए.

भारत और यूरोपीय संघ (European Union) के बीच मुक्त व्यापार के प्रस्तावित समझौते पर जयशंकर ने कहा कि भारत ‘‘निष्पक्ष और संतुलित’’ समझौते की आशा रखता है. आरसीईपी (RCEP) के संबंध में सवाल करने पर विदेश मंत्री ने कहा कि भारत समूह से इसलिए बाहर हो गया क्योंकि उसके द्वारा रखी गई मुख्य चिंताओं का समाधान नहीं किया गया. एशिया-प्रशांत क्षेत्र (Indo-Pacific Region) के 15 देशों द्वारा आरसीईपी समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने के तीन दिन बाद जयशंकर ने यह टिप्पणी की है. आरसीईपी दुनिया का सबसे बड़ा मुक्त व्यापार क्षेत्र बन गया है.

ये भी पढ़ें- 42 साल पहले चोरी हुई भगवान राम, लक्ष्मण और सीता की प्रतिमाएं भारत को मिलीं



हमारी प्रमुख चिंताओं का नहीं हुआ समाधान
चर्चा के दौरान जयशंकर ने कहा, ‘‘बड़ी बात यह है कि हमने देखा कि हमारी प्रमुख चिंताओं का समाधान नहीं किया गया है. उस वक्त फिर हमें फैसला लेना था कि प्रमुख चिंताओं का समाधान हुए बगैर आप व्यापार समझौते में शामिल होंगे या फिर उसे अपने हितों के विरुद्ध बताते हुए उससे अलग हो जाएंगे.’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमने एक फैसला लिया और आज वह आपके सामने है. समझौते में शामिल होना हमारे हित में नहीं था क्योंकि उसका तुरंत हमारी अर्थव्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव होता.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज