लीपो पहाड़ी पार करने वाला था वायुसेना का AN-32 विमान, लेकिन हो गया क्रैश

विमान AN-32 के मलबे को देखकर जानकारों का अनुमान है कि विमान पहाड़ी पार करने वाला होगा, तभी शायद बादलों की वजह से वह आगे नहीं देख पाया और पहाड़ी से टकराकर क्रैश हो गया.

News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 6:18 PM IST
लीपो पहाड़ी पार करने वाला था वायुसेना का AN-32 विमान, लेकिन हो गया क्रैश
पहाड़ी पार करने से पहले ही क्रैश हो गया था AN-32 विमान (प्रतीकात्मक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 6:18 PM IST
भारतीय वायुसेना के लापता विमान AN-32 का मलबा अरुणाचल प्रदेश के पश्चिमी सियांग जिले में मिला है. जहां AN-32 का मलबा मिला है उसे देखकर कयास लगाए जा रहे हैं कि विमान पहाड़ी पार करने से ठीक पहले क्रैश हो गया था. मलबे की तलाशी के दौरान का एक वीडियो सामने आया है. जिसे देखकर ये आशंका जताई जा रही है.

विमान AN-32 के मलबे को देखकर जानकारों का अनुमान है कि विमान पहाड़ी पार करने वाला होगा, तभी शायद बादलों की वजह से वह आगे नहीं देख पाया और लीपो पहाड़ी से टकराकर क्रैश हो गया. भारतीय वायुसेना का लापता विमान AN-32 का मलबा 8 दिन बाद मंगलवार को अरुणाचल प्रदेश के पश्चिमी सियांग जिले में देखा गया था. जिसके बाद से ही सेना की ओर से सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. AN-32 के मलबे को खोजने के लिए MI17S और एडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टर को लगाया गया है.



जारी की गई तस्वीर


13 लोगों के पता लगाने में जुटी वायुसेना

फिलहाल, वायुसेना का पूरा ध्यान विमान में सवार 13 लोगों की वर्तमान स्थिति पता लगाने जुटी है. दुर्घटना वाला इलाका काफी ऊंचाई पर और घने जंगलों के बीच है, वह क्षेत्र पूरा पहाड़ों से घिरा हुआ है. ऐसे में विमान के मलबे को तलाशने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

सामने आई मलबे की पहली तस्वीर

लापता विमान AN-32 के मलबे की पहली तस्वीर मंगलवार देर रात सामने आई थी. न्यूज़ एजेंसी ANI ने एक तस्वीर जारी की, जिसमें घने जंगल में विमान का मलबा दिख रहा है. एयरफोर्स की टीम ने AN-32 के टुकड़ों को अरुणाचल प्रदेश के लिपो नाम की जगह से 16 किलोमीटर उत्तर में इसके मलबे को देखा है. एयरफोर्स की टीम अब इन मलबों की जांच कर रही है. वायुसेना ने अब सर्च ऑपरेशन का दायरा भी बढ़ा दिया है.
Loading...

3 जून को लापता हुआ था विमान

बता दें कि भारतीय वायुसेना के विमान एएन-32 ने 3 जून को असम के जोरहाट से उड़ान भरी थी. इस विमान में इंडियन एयर फोर्स के 13 स्टाफ सवार थे. विमान को अरुणाचल प्रदेश के मेचुका एडवांस लैंडिंग ग्राउंड पर लैंड करना था. लेकिन उसी दिन दोपहर एक बजे के करीब इस विमान का कंट्रोल रूम में संपर्क टूट गया.

ये भी पढ़ें-

12 हजार फीट नीचे पड़ा है AN-32 का मलबा, बचाव कार्य में लगाए गए गरुड़ कमांडो और एडवांस लाइट हेलिकॉप्टर

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...