पिछले पांच सालों में भारतीय वायुसेना ने खोए 44 एयरक्राफ्ट और हेलिकॉप्टर, 46 की मौत

पिछले महीने भारतीय वायुसेना का एक An-32 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट अरुणाचल प्रदेश में क्रैश कर गया था. इस क्रैश में 13 लोगों की मौत हो गई थी.

News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 10:28 PM IST
पिछले पांच सालों में भारतीय वायुसेना ने खोए 44 एयरक्राफ्ट और हेलिकॉप्टर, 46 की मौत
इन हादसों में कुल 46 सुरक्षाबलों की मौत हुई है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 10:28 PM IST
भारतीय वायुसेना ने 2014-15 से अभी तक एयरक्राफ्ट और हेलिकॉप्टर मिलाकर कुल 44 विमान खोए हैं. सरकार ने इस हादसों के आंकड़े जारी किए हैं. इनमें बताया गया है कि ऐसी दुर्घटनाओं में 46 सुरक्षाबलों की मौत हुई है.

इन एयरक्राफ्ट में 26 जेट, 6 हेलिकॉप्टर, नौ ट्रेनर एयरक्राफ्ट और तीन ट्रांसपोर्ट प्लेन शामिल हैं. 2014-15 से अभी तक हुए इन हादसों की जानकारी लोकसभा में रक्षा मामलों के राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने इससे जुड़े एक सवाल के जवाब में दी.

हर साल खोए करीब 11 एयरक्राफ्ट
उन्होंने बताया कि भारतीय वायुसेना ने 2014-15 से 2018-19 के बीच हर साल करीब 11 एयरक्राफ्ट और हेलिकॉप्टर खोए. नाइक ने अपने लिखित उत्तर में बताया कि कुल 12 पायलट, सात एयरक्रू और 27 एयरफोर्ट जवानों की इन क्रैश में जान गई है.

हर क्रैश की जांच करता है कोर्ट ऑफ इंक्वायरी
उन्होंने कहा, "भारतीय वायुसेना के हर एयरक्राफ्ट क्रैश की जांच कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के जरिए की गई है ताकि एक्सीडेंट की वजहों का पता लगाया जा सके और जिन मामले में जांच पूरी हो चुकी है उसके सुझावों को सामने रखा जा सके और यह तय किया जाए कि उन सुझावों को अमल में लाया जाए."

पिछले महीने भारतीय वायुसेना का एक An-32 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट अरुणाचल प्रदेश में क्रैश कर गया था. इस एयरक्राफ्ट में 13 लोग सवार थे जिनकी इस क्रैश में मौत हो गई थी.
Loading...

इस एयरक्राफ्ट के बारे में विशेषज्ञों का कहना था कि यह पहाड़ी पार करने के ठीक पहले क्रैश हुआ होगा. माना जा रहा है कि एयरक्राफ्ट संभवतः बादलों की वजह से सामने का इलाका नहीं देख पाया और और पहाड़ी से टकराकर क्रैश हो गया होगा.

यह भी पढे़ं: नक्सलियों पर बारिश में भी होगा 'प्रहार', बनी ये रणनीति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 3, 2019, 9:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...