लाइव टीवी

देह व्यापार के लिए तस्करी में भारतीय मूल का अमेरिकी दोषी करार!

भाषा
Updated: July 2, 2015, 10:04 AM IST
देह व्यापार के लिए तस्करी में भारतीय मूल का अमेरिकी दोषी करार!
एक मोटल के भारतीय अमेरिकी मालिक ने देह व्यापार के लिए तस्करी करने वालों से वित्तीय लाभ प्राप्त करने के मामले में अपना दोष स्वीकार कर लिया।

एक मोटल के भारतीय अमेरिकी मालिक ने देह व्यापार के लिए तस्करी करने वालों से वित्तीय लाभ प्राप्त करने के मामले में अपना दोष स्वीकार कर लिया।

  • Share this:
न्यूयॉर्क। एक मोटल के 74 साल के भारतीय अमेरिकी मालिक ने देह व्यापार के लिए तस्करी करने वालों से वित्तीय लाभ प्राप्त करने के मामले में अपना दोष स्वीकार कर लिया। कानुभाई पटेल अधिक दाम लेकर तस्करों को कमरे किराए पर देता था और वे तस्कर महिलाओं को देह व्यापार के लिए मजबूर करने की खातिर कमरों में मारते पीटते थे।

अदालत में पेश सबूतों के अनुसार पटेल ने तस्करों द्वारा पीटे जाने पर मदद के लिए चिल्लाने वाली महिलाओं की चीखों को नजरअंदाज किया। इस मामले में उसे अधिकतम पांच साल कारावास की सजा हो सकती है।

पटेल ने स्वीकार किया कि जब वह लुइसियाना की न्यू ओरलियांस सिटी में एक मोटल का मालिक था तो उसने नियमित रूप से तस्करों को अधिक दाम पर कमरे किराए पर दिए। पटेल जानता था कि ये दलाल महिलाओं को जबरन वेश्यावृत्ति में धकेल रहे हैं।



पटेल ने कहा कि हालांकि उन्होंने निजी तौर किसी महिला को वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर नहीं किया लेकिन उन्होंने इस काम से वित्तीय लाभ प्राप्त किया। लुइसियाना के ईस्टर्न डिस्ट्रिक्ट में अमेरिका के अटॉर्नी केनेथ एलेन पोलाइट जूनियर ने कहा कि बचावकर्ता को देह व्यापार के लिए तस्करी के इस काम से वित्तीय लाभ हुआ।



उन्होंने कहा कि इन अपराधों का अक्सर पता नहीं चल पाता है क्योंकि पीड़ित महिलाएं शारीरिक उत्पीड़न और जबरदस्ती किए जाने के डर के साए में जीती हैं। मेरा कार्यालय उन लोगों या संगठनों के खिलाफ अभियोजन चलाने के लिए प्रतिबद्ध है जो इस अवैध काम से लाभ अर्जित करते हैं।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 2, 2015, 10:03 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading