• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • 'पाकिस्तान का मतलब क्या? अमेरिका से डॉलर ला, हिन्दुस्तान के जूते खा'

'पाकिस्तान का मतलब क्या? अमेरिका से डॉलर ला, हिन्दुस्तान के जूते खा'

वाशिंगटन डीसी में पाकिस्तानी दूतावास के बाहर प्रदर्शन करते भारतीय अमेरिकी और बलोच (ANI फोटो)

वाशिंगटन डीसी में पाकिस्तानी दूतावास के बाहर प्रदर्शन करते भारतीय अमेरिकी और बलोच (ANI फोटो)

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव से मिलने गईं उनकी मां और पत्नी के साथ हुए दुर्व्यवहार को लेकर वाशिंगटन डीसी में पाकिस्तानी दूतावास के बाहर भारतीय अमेरिकियों और बलोचों ने विरोध प्रदर्शन किया.

  • Share this:
    पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव से मिलने गईं उनकी मां और पत्नी के साथ हुई बदसुलूकी को लेकर वाशिंगटन डीसी में पाकिस्तानी दूतावास के बाहर भारतीय अमेरिकियों और बलोचों ने विरोध प्रदर्शन किया.

    'चप्पल चोर पाकिस्तान' के पोस्टर-बैनर लिए इन प्रदर्शनकारियों ने यहां पाकिस्तान विरोधी लगाए. इनमें से एक प्रदर्शनकारी ने मीडिया से बातचीत में कहा, 'जब वो किसी परेशान महिला (कुलभूषण की पत्नी) की चप्पल चुरा सकते हैं, तो मुझे उम्मीद है वो इनका इस्तेमाल भी करेंगे. मैं बस एक चीज़ कहना चाहता हूं- पाकिस्तान का मतलब क्या? अमरीका (अमेरिका) से डॉलर ला, हिंदुस्तान के जूते खा.'



    वहीं एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा, 'कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ पाकिस्तान ने जिस तरह से व्यवहार किया, उससे उनकी संकीर्ण सोच उजागर होती है. यहां लोगों को भी समझना चाहिए कि पाकिस्तान को चलाने वाले नीति निर्माताओं की भी ऐसी ही संकीर्ण सोच है.'

    दरअसल, पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव से मुलाकात करने गई उनकी मां और पत्नी के साथ वहां हुए दुर्व्यहार पर भारत ने भी कड़ी आपत्ति जताई थी. पाकिस्तानी अधिकारियों ने जाधव के साथ मुलाकात से पहले उनकी मां और पत्नी कपड़े बदलवाए थे, यहां तक उनके गहने और बिंदी भी उतरवा ली थी. इसके साथ उन्होंन जाधव की पत्नी के जूते भी सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए जब्त कर लिया था.

    बता दें कि पूर्व नौसेना अधिकारी से व्यापारी बने जाधव को 3 मार्च 2016 को गिरफ्तार किया गया था. उन्हें आतंकवाद व जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है. इस सजा पर अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय ने रोक लगाई हुई है.

    भारत का कहना है कि जाधव बेगुनाह हैं और उन्हें ईरान से अपहरण किया गया है. जाधव नौसेना से सेवानिवृत्त होने के बाद व्यापार के लिए ईरान गए थे. मौत की सजा सुनाए जाने के बावजूद पाकिस्तान ने बीते हफ्ते कहा कि उन्हें तत्काल फांसी का कोई खतरा नहीं है, क्योंकि उनकी दया याचिका अभी लंबित है.

    यह भी पढ़ें - मां-पत्नी और जाधव के बीच शीशे की दीवार खड़ी कर पाक बोला- यह आखिरी मुलाकात नहीं

    कुलभूषण की मां-पत्नी को परेशान करने वाले पत्रकारों की पाक ने थपथपाई पीठ!

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज