चीन सीमा पर भारत तैनात करेगा अमेरिकी हथियार, अब स्पेशल तोप-हेलिकॉप्टर से दुश्मन को मिलेगा करारा जवाब

News18Hindi
Updated: September 13, 2019, 3:07 PM IST
चीन सीमा पर भारत तैनात करेगा अमेरिकी हथियार, अब स्पेशल तोप-हेलिकॉप्टर से दुश्मन को मिलेगा करारा जवाब
होवित्‍जर को चिनूक हैलिकॉप्‍टर के जरिए दुर्गम इलाकों में ले जाया जा सकता है. फोटो : indian army

भारतीय सेेना (India Army) अरुणाचल की सीमा पर अपनी सामरिक शक्‍ति बढ़ाने के लिए आधुनिक अमेरिकी हथियार तैनात करने की योजना बना रहा है. इन हथियारों में एम777 हॉवित्‍जर (Howitzers) तोप और चिनूक हैलिकॉप्‍टर (chinook helicopters) शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 13, 2019, 3:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली: भारत और चीन सीमा पर सैनिकों के बीच अक्‍सर तनातनी की खबरें आती रहती हैं. भारत अब चीन से लगी अरुणाचल की सीमा पर अपनी सामरिक शक्‍ति बढ़ाने के लिए आधुनिक अमेरिकी हथियार तैनात करने की योजना बना रहा है. इन हथियारों में एम777 हॉवित्‍जर (M777 Hovitzer) तोप और चिनूक हैलिकॉप्‍टर (chinook Helicopter) शामिल हैं. सूत्रों के अनुसार, इस अभियान का कोडनेम हिम विजय रखा गया है. ये एक्‍सरसाइज नॉर्थ ईस्‍ट 17माउंटेन स्‍ट्राइक कॉर्प्‍स की युद्ध क्षमताएं परखने के लिए बनाई गई है. इस युद्ध अभ्‍यास में भारतीय वायुसेना को भी शामिल किया गया है. वायुसेना मुख्‍य रूप से युद्ध के समय हवा से प्रदान की जाने वाली सहायता उपलब्‍ध कराएगी.

चीन सीमा पर भारत ने  तैनात किया गया अमेरिकी हथियार, अब स्पेशल तोप और हेलिकॉप्टर से दुश्मनों को मिलेगा करारा जवाब

सेना के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया, हिमविजय अभ्‍यास के दौरान 17 माउंटेन स्‍ट्राइक कॉर्प्‍स को एम777 हॉवित्‍जर उपलब्‍ध कराई जाएगी. इसमें सैनिक इसक इस्‍तेमाल ठीक वैसे ही करेंगे, जैसे युद्ध के दौरान दुश्‍मन के खिलाफ होता है. इस युद्धअभ्‍यास में अमेरिका से मिले चिनूक हैलिकॉप्‍टर को भी शामिल किया जाएगा. इस आधुनिक हैलिकॉप्‍टर को सेना में इसी साल 25 मार्च को शामिल किया गया था.

सेना के अधिकारी के मुताबिक, चिनूक हैलिकॉप्‍टर अब तक नॉर्थ ईस्‍ट के किसी भी हिस्‍से में तैनात नहीं किया गया है. लेकिन आने वाले समय में इस हैलिकॉप्‍टर को नॉर्थ ईस्‍ट में तैनात किया जा सकता है. इस युद्धाभ्‍यास में इस हैलिकॉप्‍टर का भी इस्‍तेमाल किया जाएगा.

अरुणाचल और लद्दाख जैसे इलाकों के लिए कारगर
एम777 अल्‍ट्रा लाइट होवित्‍ज़र को भारतीय सेना  में के-9 वाजरा और धनुष होवित्‍ज़र के साथ शामिल किया गया था.  इस समय सेना में 145 होवित्‍ज़र सेवा में हैं. होवित्‍ज़र मुख्‍य रूप से उन पहाड़ी इलाकों में इस्‍तेमाल की जा सकती हैं जहां दूसरे भारी भरकम हथियार नहीं ले जाए जा सकते. होवित्‍ज़र को चिनूक हैलिकॉप्‍टर से एयरड्रॉप किया जा सकता है. ऐसे लद्दाख और अरुणाचल जैसे इलाकों में ये काफी कारगर है.

ऐसे चलेगा युद्धाभ्‍यास
Loading...

सूत्रों के अनुसार, नॉर्थ ईस्‍ट में सामरिक दृष्‍टि से अहम सीमा पर 5000 सैनिक युद्धअभ्‍यास में हिस्‍सा लेंगे. इस युद्ध अभ्‍यास में तेजपुर स्‍थित 4 कॉर्प्‍स के करीब 2500 सैनिकों को सर्वाधिक ऊंचाई वाले इलाकों में उतारा जाएगा. इसके बाद 17 माउंटेन स्‍ट्राइक कॉर्प्‍स के सैनिकों को वायुसेना के द्वारा उतारा जाएगा. 4 कॉर्प्‍स के सैनिक इस इलाके को बचाएंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 13, 2019, 2:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...