सेना में सुधार की बड़ी योजना पर लगी मुहर, जल्‍द होंगे बदलाव

प्रतीकात्मक फोटो

यह शीर्ष स्तरीय सम्मेलन साल में दो बार होता है जिसमें प्रमुख नीतिगत मामलों और अभियान संबंधी विषयों पर चर्चा होती है.

  • Share this:
    सेना के शीर्ष कमांडरों ने 13 लाख जवानों वाली फौज में बड़े सुधारों के लिए एक व्यापक योजना को मंजूरी दी है. इसमें उसके अधिकारी कैडर का पुनर्निर्माण, महत्वपूर्ण कमानों की आयु कम करना, बढ़ते राजस्व व्यय को रोकना और बल की संख्या दुरुस्त करना शामिल है.

    अधिकारियों ने कहा कि काफी समय से लंबित सुधारों को मंजूरी देने का फैसला सैन्य कमांडरों के सम्मेलन में लिया गया. यह शीर्ष स्तरीय सम्मेलन साल में दो बार होता है जिसमें प्रमुख नीतिगत मामलों और अभियान संबंधी विषयों पर चर्चा होती है. सेना के सूत्रों ने कहा कि चरणबद्ध तरीके से सुधारों को लागू किया जाएगा.

    सप्ताह भर चलने वाले सम्मेलन की अध्यक्षता सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत कर रहे हैं जिसकी शुरूआत नौ अक्टूबर को हुई थी. सम्मेलन में अभियान और आंतरिक प्रशासनिक मुद्दों के अलावा देश के सामने मौजूद विभिन्न सुरक्षा चुनौतियों पर विस्तार से विचार-विमर्श किया गया.

    सेना मुख्यालय ने बल की कार्य क्षमता का विस्तार करने, बजट खर्च कम करने, आधुनिकीकरण करने और आकांक्षाओं पर ध्यान देने के समग्र उद्देश्य से चार अध्ययन किये थे.

    सेना के प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने कहा कि कमांडरों के सम्मेलन में यह निष्कर्ष निकला कि 'अध्ययनों को चरणबद्ध तरीके से क्रमिक रूप में अपनाया जाएगा.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.