• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • VIDEO: लद्दाख से लेकर अटारी-वाघा और गुरेज़ सेक्टर तक, जवानों ने ऐसे मनाया स्‍वतंत्रता दिवस

VIDEO: लद्दाख से लेकर अटारी-वाघा और गुरेज़ सेक्टर तक, जवानों ने ऐसे मनाया स्‍वतंत्रता दिवस


कश्मीरी पंडितों का संगठन रुट्स इन कश्मीर,जम्मू-कश्मीर विचार मंच और यूथ फॉर पानुन कश्मीर ने मोदी सरकार के इस फैसले का खुलकर स्वागत किया है.

कश्मीरी पंडितों का संगठन रुट्स इन कश्मीर,जम्मू-कश्मीर विचार मंच और यूथ फॉर पानुन कश्मीर ने मोदी सरकार के इस फैसले का खुलकर स्वागत किया है.

Independence Day 2020: देश भर में आज स्‍वतंत्रता दिवस हर्षोल्‍लास के साथ मनाया गया. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) के बावजूद स्‍वतंत्रता दिवस को लेकर देशवासियों में खासा उत्‍साह दिखा. इस बीच जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu Kashmir) के हर गली-मोहल्‍ले एवं चौक-चौराहों पर तिरंगा झंडा फहराकर स्‍वतंत्रता का जश्‍न मनाया गया. वहीं सेना के जवानों ने लद्दाख (Ladakh) से लेकर अटारी-वाघा बॉर्डर (Attari-Wagah Border) और गुरेज सेक्‍टर (Gurez Sector) तक राष्‍ट्रगान गाकर राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया. जवानों ने काफी देर तक भारत माता की जय और वंदे मातरम् का उद्घोष किया.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. देश आज 74वां स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने इस मौके पर ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया. वहीं जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu Kashmir) में भी स्‍वतंत्रता दिवस हर्षोल्‍लास के साथ मनाया गया. हर गली-मोहल्‍ले एवं चौक-चौराहों पर तिरंगा झंडा फहराकर स्‍वतंत्रता का जश्‍न मनाया गया. जम्‍मू-कश्‍मीर के उपराज्‍यपाल मनोज सिन्‍हा ने शेर-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर तिरंगा फहराया. सैन्‍य सूत्रों के अनुसार, भारतीय सेना के जवानों ने 4000 फीट की ऊंचाई पर स्थित जम्‍मू कश्‍मीर के गुरेज सेक्‍टर में भी स्‍वतंत्रता दिवस मनाया. जवानों ने यहां पर राष्‍ट्रगान गाकर राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया. जवानों ने काफी देर तक भारत माता की जय और वंदे मातरम् का उद्घोष किया. जवानों का यह उद्घोष मानों दुश्‍मनों को सख्‍त संदेश दे रहा था कि वे स्‍वतंत्रता दिवस के जश्‍न के बीच भी भारत मां की रक्षा कर रहे हैं.

    वहीं, इंडो तिब्‍बत बॉर्डर पुलिस/आईटीबीपी (ITBP) के जवानों ने लद्दाख के पैंगोंग त्‍सो झील के किनारे राष्‍ट्रगान गाकर, राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराकर स्‍वतंत्रता दिवस मनाया. पैंगोंग त्‍सो झील समुद्र तल से लगभग 14 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है. सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने अमृतसर से लगभग 35 किलोमीटर दूर अटारी-वाघा बॉर्डर पर स्वतंत्रता दिवस मनाया. बीएसएफ के महानिदेशक एसएस देसवाल ने यहां पर राष्‍ट्रीय ध्‍वज फहराया.



    विकास के नए पथ पर बढ़ रहा है जम्मू कश्मीर : उपराज्यपाल
    उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को कहा कि पिछल साल हुए बदलाव के बाद जम्मू कश्मीर में हालात सामान्य होने और विकास के एक नए युग की शुरुआत हुई है. उन्होंने शांति, प्रगति और सामाजिक सद्भाव को बदले परिप्रक्ष्य का अभिन्न अंग बनाने का संकल्प लिया. यहां शेर-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में सिन्हा ने कहा, 'यह बहुत दुख की बात है कि सांस्कृतिक समन्वयवाद की विरासत पर संप्रदायवाद का ग्रहण लग गया. हम फिर से इस विमर्श को बदलना चाहते हैं. हम विकास, शांति, प्रगति और सामाजिक सद्भाव को जम्मू कश्मीर के विमर्श का अटूट हिस्सा बनाना चाहते हैं.'

    उन्होंने कहा कि सरकार जम्मू कश्मीर के लोगों के लिए विकास, कल्याण और सामाजिक बदलाव के वास्ते एक बेहतर विकल्प मुहैया कराने को लेकर प्रतिबद्ध है. उन्होंने युवाओं से देश की प्रगति में हिस्सेदार बनने का आह्वान किया. उपराज्यपाल ने पिछले साल अगस्त में अनुच्छेद 370 और 35-ए के प्रावधानों को निरस्त किए जाने का हवाला देते हुए कहा, '2019 में संवैधानिक बदलाव को लागू करने के बाद केंद्र सरकार ने एक या दो नहीं बल्कि क्षेत्र की तस्वीर बदलने के लिए 50 ऐतिहासिक फैसले किए. पिछले साल के बदलाव के कारण हालात सामान्य बनने और विकास के एक नए युग की शुरुआत हुई है. एक नयी यात्रा शुरू हुई है.'

    पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के 'इंसानियत, जम्हूरियत और कश्मीरियत' कथन का हवाला देते हुए सिन्हा ने कहा कि कश्मीर में आतंकवाद ने दशकों तक मानवता को परास्त किया, निहित हित वाले लोगों के हाथों में लोकतंत्र को नुकसान हुआ और नफरत फैलाने के लिए कश्मीरी लोगों का नरसंहार किया गया. सिन्हा ने कहा कि उनका प्रशासन उन सभी लोगों के साथ खड़ा है जो जम्मू कश्मीर में लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

    राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर हालिया हमलों की पृष्ठभूमि में उन्होंने कहा, 'खतरे का सामना कर रहे स्थानीय स्व-सरकारों के निर्वाचित प्रतिनिधियों को 25 लाख रुपये का जीवन बीमा कवर प्रदान किया जा रहा है. पुलिस-व्यवस्था को अधिक प्रभावी बनाने के लिए आवश्यक सुधार किए जा रहे हैं.' सिन्हा ने कहा कि यह सरदार पटेल का सपना था कि समूचे भारत का अस्तित्व केवल राजनीतिक मानचित्र पर ही ना हो बल्कि समूचा भारत एक साथ आगे बढ़े और विकास व प्रगति के नए मील के पत्थर स्थापित करे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज