• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • 'गुड मॉर्निंग कश्मीर से' होगी घाटी की सुबह, सेना ने अनंतनाग में शुरु किया रेडियो स्टेशन

'गुड मॉर्निंग कश्मीर से' होगी घाटी की सुबह, सेना ने अनंतनाग में शुरु किया रेडियो स्टेशन

अब घाटी की सुबह- गुड मॉर्निंग कश्मीर से होगी. (AP Photo/Mukhtar Khan)

भारतीय सेना (Indian Army) ने जम्मू-कश्मीर स्थित अनंतनाग में युवाओं को खुद से जोड़ने और लोगों तक शांति का संदेश पहुंचाने के लिए रेडियो स्टेशन की शुरुआत की. अब घाटी की सुबह- गुड मॉर्निंग कश्मीर से होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    नई दिल्ली जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में युवाओं से जुड़ने के लिए सेना ने सामुदायिक रेडियो शुरू किया है. अब यहां के युवाओं की सुबह हर रोज 'गुड मॉर्निंग कश्मीर. यह रेडियो राब्ता 90.8 दिल से दिल तक. नागरिकों के लिए सेना के पहले सामुदायिक रेडियो स्टेशन में आपका स्वागत है.' से शुरू होगी. सेना उग्रवाद प्रभावित शोपियां जिले में इस तरह का एक और स्टेशन शुरू करने की योजना बना रही है.

    दक्षिण कश्मीर स्थित विक्टर फोर्स के मेजर-जनरल ए सेनगुप्ता के जनरल ऑफिसर कमांडिंग ने बताया, 'इसका उद्देश्य मनोरंजन और शांति के संदेश के साथ जनता, खासकर युवाओं तक पहुंचना है.' सीआरएस, सेना ने कहा सभी कार्यक्रम उर्दू और कश्मीर में होंगे और यह रेडियो दिन के अधिकतर समय ऑन एयर रहेगा.

    सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'इसका उद्देश्य स्थानीय युवाओं से सीधे जुड़ना है.' जुलाई 2016 में आतंकवादी कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद, दक्षिण कश्मीर के चार जिले- कुलगाम, अनंतनाग, शोपियां और पुलवामा- कश्मीर के नए जमाने के उग्रवाद के केंद्र के रूप में उभरे हैं. अनंतनागर में बुधवार को सेना ने स्टेशन की शुरुआत की.

    आतंकवादी भर्तियों में कोई कमी नहीं
    इन चार जिलों में सक्रिय उग्रवादियों में से अधिकांश स्थानीय हैं और सुरक्षा बलों के लिए सबसे चिंता का विषय यह है कि दक्षिण कश्मीर में आतंकवादी भर्तियों में कोई कमी नहीं आई है. सेना को उम्मीद है कि रेडियो राब्ता भी उन्हें युवा आबादी तक पहुंचने में मदद करेगा. अधिकारी ने कहा, 'शुरुआत में  सीआरएस मुख्य रूप से सूफी गीतों से दिन की शुरुआत करेगा और फिर हिन्दी और पंजाबी गाने सुनने को मिलेंगे.'

    द ट्रिब्यून की एक रिपोर्ट के अनुसार अधिकारी ने कहा कि आने वाले दिन में, सीआरएस स्थानीय समुदाय की पसंद पर ध्यान देगा. उन्होंने कहा, 'कार्यक्रम स्थानीय समुदाय की जरूरतों को दर्शाएंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज