लाइव टीवी

सेना के मेजर ने बनाया दुनिया का पहला बुलेटप्रूफ हेलमेट, AK-47 की गोली का कर सकता है सामना

News18Hindi
Updated: February 9, 2020, 10:49 AM IST
सेना के मेजर ने बनाया दुनिया का पहला बुलेटप्रूफ हेलमेट, AK-47 की गोली का कर सकता है सामना
भारतीय सेना (Indian Army) के कॉलेज ऑफ मिलिट्री इंजीनियरिंग में अनूप मिश्रा ने फुल बॉडी प्रोटेक्शन बुलेट प्रूफ जैकेट भी बनाया है.

भारतीय सेना (Indian Army) के कॉलेज ऑफ मिलिट्री इंजीनियरिंग में अनूप मिश्रा ने फुल बॉडी प्रोटेक्शन बुलेट प्रूफ जैकेट भी बनाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2020, 10:49 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. भारतीय सेना (Indian Army) के जवानों के लिए स्नाइपर बुलेट्स से बचाने वाली बुलेट प्रूफ जैकेट बनाने वाले मेजर ने एक ऐसा हेलमेट बनाया है जिससे 10 मीटर की दूरी से दागी गई Ak-47 की गोलियों का असर नहीं होगा.

समाचार एजेंसी ANI के अनुसार अभेद्य प्रोजेक्ट के तहत मेजर अनूप मिश्रा ने बैलेस्टिक हेलमेट बनाया है. इस हेलमेट के बारे में दावा किया गया कि दुनिया में ऐसा पहला बुलेटप्रूफ हेलमेट है जो 10 मीटर की दूसरी से AK-47 से चलाई गई गोली से इसे पहनने वाले को बचाएगा.

10 मीटर की दूरी से स्नाइपर की फायरिंग का सामना
भारतीय सेना के कॉलेज ऑफ मिलिट्री इंजीनियरिंग में अनूप मिश्रा ने इसी प्रोजेक्ट के तहत फुल बॉडी प्रोटेक्शन बुलेट प्रूफ जैकेट बनाया है. दरअसल जम्मू और कश्मीर में तैनाती के दौरान मिश्रा पर दो गोलियां चलीं थी. हालांकि बुलेट प्रूफ जैकेट के चलते गोलियां तो उनके शरीर में नहीं लगीं लेकिन उसका असर जरूर पड़ा. इसके बाद उन्होंने ऐसी बुलेटप्रूफ जैकेट बनाई. यह जैकेट 10 मीटर की दूरी से स्नाइपर की फायरिंग का सामना कर सकता है.

तत्कालीन रक्षा राज्य मंत्री, सुभाष भामरे ने जुलाई 2018 में एक लिखित जवाब में लोकसभा को बताया था कि '2016-17 के दौरान, रेवेन्यू रूट के माध्यम से भारतीय सेना के लिए 50,000 बुलेटप्रूफ जैकेट खरीदे गए थे.  कैपिटल रूट के माध्यम से 1,86,138 बीपीजे की खरीद का अनुबंध अप्रैल 2018 में संपन्न हुआ. इससे पहले दिसंबर 2016 में कैपिटल रूट के माध्यम से 1,58,279 बैलिस्टिक हेलमेट की खरीद के लिए फैसला किया गया था.

यह भी पढ़ें: भारत ने लिट्टे के खिलाफ लड़ाई में ब्रिटिश पायलटों का इस्तेमाल किया : किताब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 10:45 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर