पाकिस्तानी आतंकवाद से निपटने के लिए सीमा पर बनाए जाएंगे वॉर ग्रुप, ये है भारतीय सेना का नया प्लान

रिपोर्ट के मुताबिक एक ब्रिगेड में तीन-चार यूनिट होती है. हर यूनिट में करीब 800 जवान होते हैं. हर IBG में पांच हजार जवान शामिल होंगे, जिसे मेजर जनरल रैंक का अधिकारी लीड करेगा.

News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 8:16 PM IST
पाकिस्तानी आतंकवाद से निपटने के लिए सीमा पर बनाए जाएंगे वॉर ग्रुप, ये है भारतीय सेना का नया प्लान
भारतीय सेना पाकिस्तान से जुड़ी सीमा पर नए इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप्स स्थापिक करेगी (सांकेतिक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 8:16 PM IST
भारतीय सेना पाकिस्तान से जुड़ी सीमा पर नए इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप्स (IBG अथवा वॉर ग्रुप्स) स्थापित करने जा रही है. इनका मकसद जंग के दौरान सेना की क्षमत को अधिक मजबूत करना है. यह प्रक्रिया अक्टूबर तक पूरी हो जाएगी. पाकिस्तान के बाद चीन की सीमा पर भी वॉर ग्रुप्स बनाए जाएंगे.

रिपोर्ट के मुताबिक एक ब्रिगेड में तीन-चार यूनिट होती है. हर यूनिट में करीब 800 जवान होते हैं. हर IBG में पांच हजार जवान शामिल होंगे, जिसे मेजर जनरल रैंक का अधिकारी लीड करेगा.

सैन्य सूत्रों ने बताया कि पश्चिम कमांड में इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप की क्षमता जांचने के लिए एक अभ्यास किया गया था, जिसे लेकर उच्च अधिकारियों का फीडबैक सकारात्मक रहा और जल्द ही दो से तीन IBG का निर्माण किया जाएगा.

पाकिस्तानी आतंकवाद से ऐसे निपटेगी सेना

IBG के लिए दो तरह के समूहों का परीक्षण किया गया. एक समूह को हमले को दैरान सीमा पार होने वाली गतिविधियों के अलावा युद्ध से संबंधित कार्यों की जिम्मेदारी दी गई, जबकि दूसरे को दुश्मन के हमले का सामना करने का जिम्मा सौपा गया. इस अभ्यास में ब्रिगेड के बजाय आईबीजी का इस्तेमाल किया गया.

बता दें कि काफी वक्त से सेना के आधुनिकीकरण की जरूरत महसूस की जा रही है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना के आधुनिकरण में पूरी मदद करने का वादा किया है.

ये भी पढ़ें: भारत-पाक सीमा पर करगिल युद्ध में बिछाई 20 साल पुरानी बारूदी सुरंग मिली
First published: June 19, 2019, 8:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...