नेपाल और श्रीलंका से भी ज्यादा भूखे और कुपोषित हैं भारतीय बच्चे

फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: October 13, 2017, 4:28 PM IST
नेपाल और श्रीलंका से भी ज्यादा भूखे और कुपोषित हैं भारतीय बच्चे
नेपाल और श्रीलंका से भी ज्यादा भूखे और कुपोषित हैं भारतीय बच्चे
फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: October 13, 2017, 4:28 PM IST
देश एक तरफ विकास के सपने देख रहा है तो दूसरी तरफ भुखमरी, कुपोषण और पिछड़ेपन जैसी समस्याएं आज भी बरकरार हैं. देश में भुखमरी कई छोटे देशों के मुकाबले भी ज्यादा है. यहां लोगों को दो जून की रोटी तक नसीब नहीं हो पा रही है.

वाशिंगटन स्थित इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईएफपीआरआई) द्वारा जारी ग्लोबल हंगर इंडेक्स-2016 के मुताबिक, भारत का नंबर नेपाल, बांग्लादेश और श्रीलंका से भी पीछे है. यानी इन देशों के मुकाबले भारत में कम लोगों को दो वक्त का भरपेट खाना मुहैया हो पा रहा है.

ग्लोबल हंगर इंडेक्स-2016 के मुताबिक, 118 देशों की लिस्ट में भारत 100वें पायदान पर है. इस हिसाब से भारत में 5 में से हर दूसरा बच्चा कुपोषण का शिकार है. भारत के मुकाबले पड़ोसी देशों की स्थिति काफी बेहतर है. इस लिस्ट में नेपाल 72वें पायदान, बांग्लादेश 88वें पायदान, श्रीलंका 84वें पायदान और म्यांमार 77 वें पायदान पर है. चीन इस मामले में भारत से काफी बेहतर स्थिति में है. इस लिस्ट में चीन 29वें नंबर पर है. साउथ एशिया में सबसे नीचे पाकिस्तान है. 118 देशों की लिस्ट में उसका नंबर 106वें पर है.

हालात सुधरे हैं लेकिन पूरी तरह नहीं

साल 2000 के मुकाबले अब भुखमरी और कुपोषण जैसे मामलों में 29 फीसदी की कमी आई है. लेकिन आज भी 15.2 फीसदी लोगों को खाली पेट ही सोना पड़ रहा है. इनमें से करीब 39 फीसदी बच्चे कुपोषित हैं.

ये भी पढ़ें-
दुर्ग में खुला ‘रोटी बैंक’, भरेगा हर भूखे का पेट
घर में घुसा तेंदुआ भूख से मर गया, पेट खाली और शरीर पर ज़ख्म मिले


 
First published: October 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर