लाइव टीवी

यमन में एक साल से कैद थे 9 भारतीय मछुआरे, मालिक की नाव चुराकर 10 दिन में पहुंचे भारत

News18Hindi
Updated: November 30, 2019, 11:06 AM IST
यमन में एक साल से कैद थे 9 भारतीय मछुआरे, मालिक की नाव चुराकर 10 दिन में पहुंचे भारत
यमन में एक साल से कैद भारतीय मछुआरे अब भारत पहुंच चुके हैं. (प्रतिकात्मक फोटो)

केरल (Kerala) के रहने वाले दो और तमिलनाडु (Tamil Nadu) के 7 मछुआरे (Fisherman) बीते एक साल से यमन (Yemen) में बंधक बनाकर रखे गए थे. इन मछुआरों से जरूरत से ज्यादा काम कराया जाता था और मारा-पीटा जाता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 11:06 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अपनो के पास पहुंचने की खुशी क्या होती है यह कोच्ची के तट पर पहुंचे 9 भारतीय मछुआरों को देखने से पता चलती है. कोच्ची के तट पर बैठे मछुआरों के आंखों से निकलते आंसू उनके दर्द और खुशी दोनों को बयां कर रहे थे. इन मछुआरों के लिए कोच्ची पहुंचना किसी नई जिंदगी को पाने से कम नहीं था. हो भी क्यों न जिन लोगों को एक साल तक यमन में बंधक बनाकर रखा गया हो वह अगर खुली हवा में सांस ले रहे हैं तो ऐसा अनुभव होना लाजमी भी है.

केरल के रहने वाले दो और तमिलनाडु के 7 मछुआरे बीते एक साल से यमन में बंधक बनाकर रखे गए थे. इन मछुआरों से जरूरत से ज्यादा काम कराया जाता था और मारा-पीटा जाता था. इन मछुआरों ने किसी तरह अपने मालिक की नाव चुरा ली और 10 दिनों तक 3000 किलोमीटर लंबा समुद्री सफर तय करने के बाद भारत पहुंच गए. कोच्चि तट से 75 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद भारतीय कोस्ट कार्ड के जवानों ने जब मछुवारों की नाव को रोका तो उन्होंने अधिकारियों को इसकी जानकारी दी. इस नाव के बारे में कोस्ट गार्ड के डॉर्नियर एयरक्राफ्ट को जानकारी मिली थी.

बताया जाता है कि 13 दिसंबर 2018 को इन मछुआरों ने मछलियां पकड़ने के लिए तिरुवनंतपुरम का तट छोड़ा था. वह मछली पकड़ने के चक्कर में काफी आगे निकल आए और उन्हें यमन में कैद कर लिया गया. वह उन्हें नाव में रखता था और काफी काम कराता था. इन मछुआरों को दिनभर में केवल एक बार खाने को दिया जाता था. मछुआरों ने बताया कि उन्होंने जिस नाव को चुराया था उसमें प्याज और ईंधन और खाने पीने का कुछ सामान पहले से मौजूद था., जिसके कारण वह 3000 किलोमीटर का सफर तय कर सके.

इसे भी पढ़ें :- समुद्री मछुआरे ने समुद्र तल से निकालीं ये अजीबोगरीब मछलियां, लोग बोले- 'नर्क से शैतान निकाल लाया'

मछुआरों के परिजनों को दी गई जानकारी
पुलिस ने बताया कि इन मछुआरों को इमिग्रेशन की औपचारिकताएं पूरी करने के बाद ही परिजनों को सौंपा जाएगा. कोस्टल पुलिस अधिकारी ने बताया कि सभी मछुआरों के परिजनों को इसकी जानकारी दे दी गई है. सभी मछुआरों के परिजन शनिवार दोपहर तक कोच्चि पहुंच जाएंगे. अगर सबकुछ ठीक रहा तो उन्हें जल्द से जल्द रिहा कर दिया जाएगा.

इसे भी पढ़ें :- हमीरपुर: गहरे नदी में जाल नहीं, मुंह और हाथों से पकड़ता है मछलियां, देखिए VIDEO

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 10:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर