कोरोना की वैक्सीन में देर हुई तो 7.5% तक घट सकती है भारत की जीडीपी: रिपोर्ट

कोरोना की वैक्सीन में देर हुई तो 7.5% तक घट सकती है भारत की जीडीपी: रिपोर्ट
अगर कोरोना की वैक्सीन मिलने में देरी हुई भारतीय अर्थव्यवस्था पर इसका गहरा प्रभाव पड़ेगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वैश्विक ब्रोकिंग कंपनी बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज (Bank of America Securities) के मुताबिक अगर वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) आने में लंबा समय लगा तो भारतीय अर्थव्यवस्था के 2020-21 में 7.5 प्रतिशत तक सिकुड़ने का अनुमान है.

  • Share this:
मुंबई. कोविड-19 का वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) आने में अगर लंबा समय लगता है तो इसका असर भारत की अर्थव्यवस्था पर ज्यादा पड़ सकता है. वैश्विक ब्रोकिंग कंपनी बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज (Bank of America Securities) के मुताबिक अगर वैक्सीन आने में लंबा समय लगा तो भारतीय अर्थव्यवस्था के 2020-21 में 7.5 प्रतिशत तक सिकुड़ने का अनुमान है. हालांकि, परिस्थितियां अगर उम्मीद के मुताबिक रहती हैं तो तब ब्रोकिंग कंपनी ने भारतीय अर्थव्यवस्था में चार प्रतिशत गिरावट का अनुमान लगाया गया है.

इससे पहले भी लगाए गए हैं अनुमान
कंपनी के अर्थशास्त्रियों ने एक हफ्ते के भीतर ही देश की वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि को लेकर अपने अनुमान को संशोधित किया है. रिपोर्ट के मुताबिक देश में आर्थिक गतिविधियों में आई गिरावट के चलते अगर उम्मीद के अनुरूप स्थिति रहती है तब भी अर्थव्यवस्था 4 प्रतिशत सिकुड़ने का अनुमान है. हालांकि, इससे पहले कई विश्लेषकों ने भारतीय अर्थव्यवस्था में चालू वित्त वर्ष के दौरान पांच प्रतिशत तक गिरावट आने का अनुमान व्यक्त किया है.

कोरोना वैक्सीन के लिए किए जा रहे हैं वैश्विक प्रयास
रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना वायरस का वैक्सीन खोजे जाने को लेकर वैश्विक और घरेलू दोनों जगहों पर कई स्तरों पर प्रयास किए जा रहे हैं. लेकिन वैक्सीन तैयार होने को लेकर अभी तक किसी समयसीमा की घोषणा नहीं की गई है. रिपोर्ट में कहा गया है, ‘अगर वैश्विक अर्थव्यवस्था को कोविड-19 के वैक्सीन का इंतजार एक साल तक करना पड़ता है तो देश की वास्तविक जीडीपी 7.5 प्रतिशत तक गिर सकती है.’



ये भी पढ़ें-केरल गोल्ड स्मगलिंग: स्वप्ना सहित 4 अभियुक्तों के खिलाफ UAPA के तहत FIR दर्ज

नीतिगत दरों में कटौती कर सकता है RBI
विशेषज्ञों ने अनुमान जताया कि देश में आर्थिेक हालात को बेहतर बनाने के लिए 2020-21 में भारतीय रिजर्व बैंक नीतिगत दरों में दो प्रतिशत की और कटौती कर सकता है.

भारत में कोरोना की स्थिति
इस बीच भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 878,254 हो चुका है. इनमें से 553,471 लोग स्वस्थ भी हो चुके हैं. इस वक्त देश में 301,609 एक्टिव केस हैं और 23174 लोगों ने महामारी की वजह से जान गंवाई है. भारत में कोरोना का रिकवरी रेट 62 प्रतिशत के ऊपर पहुंच चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading