5 महीने में चाइनीज ऐप्स पर भारत सरकार की चौथी स्ट्राइक, 260 से ज्यादा ऐप्स पर लगाया बैन

नई लिस्ट के बाद भारत में टिकटॉक, यूसी समेत अब तक 267 चीनी ऐप्स बैन किए जा चुके हैं.

भारत सरकार द्वारा बैन किए जाने के बाद ये ऐप्स अब गूगल प्ले स्टोर और ऐपल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं होंगे. इतना ही नहीं जो यूजर्स इन ऐप्स का वर्तमान समय में इस्तेमाल कर रहे है वो जल्द ही काम करना बंद कर देंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत सरकार (Indian govt) ने देश में इस्तेमाल किए जा रहे 43 मोबाइल ऐप्स (43 CHINESE APPS) पर मंगलवार को रोक लगा दी है. इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की तरफ से सूचना प्रौद्योगिकी एक्ट की धारा 69ए के तहत इन ऐप्स को प्रतिबंधित किया गया है. केंद्र सरकार की ओर से इन ऐप्स को राष्ट्र की सुरक्षा के लिए खतरा माना गया है. ऐप्स बैन की नई सूची में चीनी टेक दिग्गज अलीबाबा (ALIBABA) के कई ऐप्स शामिल हैं, जैसे कि अलीसुपेलर्स मोबाइल, अलीबाबा वर्कबेन्च, अलीएक्सप्रेस और Alipay कैशियर.

    भारत सरकार द्वारा बैन किए जाने के बाद ये ऐप्स अब गूगल प्ले स्टोर और ऐपल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं होंगे. इतना ही नहीं जो यूजर्स इन ऐप्स का वर्तमान समय में इस्तेमाल कर रहे है वो जल्द ही काम करना बंद कर देंगे. भारत सरकार द्वारा चीनी ऐप्स (Chinese Apps) पर अब तक ये चौथी कार्रवाई है. नई लिस्ट के बाद भारत में टिकटॉक, यूसी समेत अब तक 267 चीनी ऐप्स बैन किए जा चुके हैं.

    जून में शुरू हुई थी चीनी ऐप्स के खिलाफ कार्रवाई
    पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के बीच जारी संघर्ष के बाद भारत सरकार ने चीनी ऐप्स के खिलाफ इसी साल जून में कार्रवाई शुरू की थी. टिकटॉक, शेयरइट, यूसी ब्राउजर और वीचैट समेत 59 चीनी ऐप्स को जून में बंद किया गया था.

    - इसके बाद सिर्फ एक महीने के भीतर ही कैमस्कैनर समेत 47 ऐप्स को जुलाई में बैन किया गया था.

    - लेकिन सितंबर में 118 चीनी ऐप्स को बैन करना केंद्र सरकार का सबसे बड़ा कदम माना गया था, जिनमें PUBG मोबाइल और PUBG मोबाइल लाइट जैसे अत्यधिक लोकप्रिय ऐप्स शामिल थे. इन सभी ऐप्स को बैन करते हुए केंद्र सरकार ने दावा किया था कि ये देश की अखंडता और आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा हैं.

    भारत में 43 प्रतिबंधित ऐप्स की सूची में चीनी सोशल - फ्री ऑनलाइन डेटिंग वीडियो ऐप और चैट, एशिया में डेट, WeDate-डेटिंग ऐप, फ्री डेटिंग ऐप-सिंगोल जैसे डेटिंग ऐप शामिल हैं. इन ऐप्स को बैन करते हुए भारत सरकार ने फिर से दावा किया है कि आईटी अधिनियम की धारा 69 ए के प्रावधानों के तहत प्रतिबंधित ऐप्स ने भारत की संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरा पैदा किया है.



    आत्मनिर्भर ऐप्स को मिला बढ़ावा
    केंद्र सरकार द्वारा चीनी ऐप्स को बैन किए जाने के बाद देसी ऐप्स को इसका फायदा मिला है. शॉर्ट वीडियो बनाने के लिए चीनी ऐप टिकटॉक के बैन होने के बाद चिंगारी, मितरॉन, एमएक्स प्लेयर और बहुत कुछ जैसे घरेलू ऐप्स को फायदा हुआ है. इसी तरह PUBG के बैन होने के बाद आगामी गेमिंग ऐप, फियरलेस और यूनाइटेड - गार्ड्स या FAU-G को भी यूजर्स से सपोर्ट मिलने की उम्मीद है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.