IISc का दावा- सितंबर तक भारत में 35 लाख तक हो सकते हैं कोरोना के मरीज, नवंबर में 1 करोड़ के पार

IISc का दावा- सितंबर तक भारत में 35 लाख तक हो सकते हैं कोरोना के मरीज, नवंबर में 1 करोड़ के पार
देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहें हैं.

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (IISc) के मुताबिक 1 सितंबर तक भारत में कोरोना (Coronavirus) के एक्टिव केस करीब 10 लाख हो जाएंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. इन दिनों देशभर में कोरोना (Coronavirus) के हर रोज 25 हज़ार से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं. देश में इस घातक वायरस से अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 9,36,181 हो गई है. इस बीच इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस बैंगलोर (IISc) ने हैरान कर देने वाले अनुमान लगाए हैं. IISc के मुताबिक मौजूदा ट्रेंड के हिसाब से भारत में 1 सितंबर तक कोरोना के 35 लाख केस हो जाएंगे. यानी अगले डेढ़ महीने के दौरान 26 लाख नए केस सामने आ सकते हैं.

एक्टिव केस 10 लाख के पार!
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस के मुताबिक 1 सितंबर तक भारत में कोरोना के एक्टिव केस करीब 10 लाख हो जाएंगे. अनुमान में ये भी कहा गया है कि अगर आने वाले दिनों में हालता सुधरते भी हैं तो भी देश में 1 सितंबर तक कोरोना के मरीजों की संख्या 20 लाख पहुंच सकते हैं. बता दें कि भारत में इस संक्रमण से अब तक 24,309 लोगों की मौत हो गई है.

नवंबर में 1 करोड़ पार!
अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक IISc ने अनुमान लगाया है कि आने वाले दिनों में हालात और भी खराब हो सकते हैं. IISc के मुताबिक 1 नवंबर तक भारत में 1.2 करोड़ लोग कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं. जबकि 1 जनवरी तक भारत में इस खतरनाक वायरस से 10 लाख लोगों की जान जा सकती है. IISc के प्रोफेसर शशिकुमार जी, दीपक एस और उनकी टीम ने अलग-अलग राज्यों को लेकर भी अनुमान लगाया है.



राज्यों का अनुमान
IISc ने ये भी कहा है कि मौजूदा ट्रेंड के हिसाब से 1 सितंबर तक महाराष्ट्र में 6.3 लाख, दिल्ली (2.4 लाख), तिमलनाडु (1.6 लाख) और गुजरात में कोरोना मरीजों की संख्या 1.8 लाख तक पहुंच सकती है. IISc के मुताबिक अगर हालत बिगड़ते हैं तो फिर मार्च के आखिर तक भारत में कोरोना के 6.2 करोड़ केस होंगे. इस दौरान देश में 82 लाख एक्टिव केस हो सकते हैं. जबकि 28 लाख लोगों की जान जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading