अपना शहर चुनें

States

India-China LAC Rift: भारत के सैनिकों पर है चीनी जासूसों की नजर, खुफिया एजेंसियों ने किया अलर्ट

भारत और चीन के बीच पिछले 8 महीने से गतिरोध बरकरार है
भारत और चीन के बीच पिछले 8 महीने से गतिरोध बरकरार है

India-China Standoff: भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर पिछले 8 महीनों से गतिरोध बना हुआ है. दोनों पक्षों के बीच बातचीत का अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 11:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन (China) अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहा है. खबर है कि चीन के जासूस वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारतीय सेना की जासूसी कर रहा है. खुफिया एजेंसियों ने चीन की इस हरकत को लेकर सेना को अलर्ट कर दिया है. कहा जा रहा है कि LAC पर चीन के जासूसों की नजर लद्दाख, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश की सीमाओं पर है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस सिलसिले में खुफिया एजेंसियों ने कुछ कॉल इंटरसेप्ट किए हैं. ये जासूस, सेना और सीमावर्ती क्षेत्र में भारत की तरफ से किए जा रहे निर्माण के बारे में भी जानकारी जुटा रहे हैं.

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक भारत सरकार की तरफ से इस मसले पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. लेकिन भारतीय खुफिया एजेंसियों को कराकोरम के पास दौलत बेग ओल्डी, पांगोंग, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में एलएसी के पास इन जासूसों के गतिविधियों की जानकारी मिली है. बता दें कि भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्र रेखा पर पिछले 8 महीनों से गतिरोध बना हुआ. दोनों पक्षों के बीच बातचीत का अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है.

पकड़ा गया था चीनी सैनिक
बता दें कि 8 जनवरी को भारतीय सीमा में चीन का एक सैनिक पकड़ा गया था. चीन का कहना था कि वो रास्ता भटक गया था. ये सानिक पैंगोंग सो (झील) के दक्षिणी तट पर भारतीय सीमा में घुस गया था. हालांकि भारत ने इस सैनिक को वापस भेज दिया था. पिछले करीब तीन महीने में ये इस तरह की दूसरी घटना थी. इन घटनाओं से संकेत मिलते हैं कि चीन के जासूसों की नजर एलएसी पर लगातार बनी हुई है.
ये भी पढ़ें:- जब CWC बैठक में नेताओं का झगड़ा देख राहुल बोले- बस इसे यहीं खत्म करो



बातचीत की उम्मीद
पिछले हफ्ते जनरल एम एम नरवणे ने बातचीत के जरिये गतिरोध का सहमति से समाधान निकलने की उम्मीद जाहिर की थी. सेना प्रमुख ने हालांकि किसी भी स्थिति से निपटने के लिये भारतीय सैनिकों के पूरी तरह से तैयार होने की बात भी कही थी. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारत और चीन राजनयिक और सैन्य माध्यमों के जरिये करीबी संवाद बनाये हुए हैं. दोनों पक्षों ने अगले दौर की सैन्य स्तर की वार्ता करने पर सहमति व्यक्त की है और इस संबंध में लगातार सम्पर्क में हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज