भारतीय महिला की मौत पर पूरा देश दुखी, हम उनके परिवार के साथ: इजरायली राजदूत

हमास के हमले में जान गंवाने वाली सौम्या संतोष. (तस्वीर-ANI)

हमास के हमले में जान गंवाने वाली सौम्या संतोष. (तस्वीर-ANI)

भारत में इजरायल के राजदूत रोन माल्का (Ron Malka) ने कहा है-मैंने सौम्या संतोष के परिवार से बातचीत की है. वो हमास के आतंकी हमले का शिकार हुईं. मैंने उनके परिवार से इस अपूर्णीय क्षति के लिए दुख व्यक्त किया है. उनकी मौत पर हमारा पूरा देश दुखी है. हम उनके परिवार के लिए यहां मौजूद हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. इजरायल के शहर तेल अवीव (Tel Aviv) में फिलिस्तीन के संगठन हमास (Hamas) द्वारा किए गए हमले में भारतीय महिला की मौत पर इजरायली राजदूत ने शोक व्यक्त किया है. भारत में इजरायल के राजदूत रोन माल्का (Ron Malka) ने कहा है-मैंने सौम्या संतोष के परिवार से बातचीत की है. वो हमास के आतंकी हमले का शिकार हुईं. मैंने उनके परिवार से इस अपूर्णीय क्षति के लिए दुख व्यक्त किया है. उनकी मौत पर हमारा पूरा देश दुखी है. हम उनके परिवार के लिए यहां मौजूद हैं.

माल्का ने कहा-मेरा दिल सौम्या संतोष के 9 वर्षीय बच्चे को लेकर बेहद दुखी है. अब उसे बिना के मां के अपना जीवन गुजारना होगा. इस कायराना हमले ने मुझे 2008 के मुंबई आतंकी हमले की याद दिला दी जिसमें हमारे देश की एक बच्ची के माता-पिता मारे गए थे.

Youtube Video

दरअसल इजरायल और हमास के बीच हफ्तों से जारी तनाव अब हिंसक हो चुका है. रातों-रात दोनों पक्षों के बीच हुए हमलों में मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ा है. मंगलवार रात हमास ने इजरायल पर करीब 100 रॉकेट दागे हैं. इसी हमले में भारतीय महिला सौम्या संतोष की भी जान चली गई. इस जंग में अब तक 35 फलस्तीनी और 3 इजरायली मारे जा चुके हैं.
सौम्या संतोष बीते 7 सालों से इजरायल में रह रही थी. रिपोर्ट्स के अनुसार, हमले के वक्त सौम्या एक घर में बुजुर्ग महिला की देखभाल कर रही थीं. इस घटना में बुजुर्ग महिला की जान तो बच गई, लेकिन सौम्या की मौत हो गई. बुजुर्ग महिला को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया.

आपातकाल का ऐलान

इजरायल और फलस्तीन के बीच जारी हिंसा के चलते प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने लॉड शहर में आपातकाल की घोषणा की है. सरकार ने प्रदर्शनों के चलते यह फैसला लिया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज