कल से भारतीय रेलवे चलाना शुरू कर देगा 200 विशेष ट्रेनों, श्रमिक ट्रेनों से अलग होंगीं

कल से भारतीय रेलवे चलाना शुरू कर देगा 200 विशेष ट्रेनों, श्रमिक ट्रेनों से अलग होंगीं
रेलवे ने कहा कि यात्रियों को प्रस्थान से कम से कम 90 मिनट पहले स्टेशन पर पहुंचना होगा (सांकेतिक फोटो, PTI)

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने कहा कि लगभग 26 लाख यात्रियों (Passengers) ने एक जून से 30 जून तक विशेष ट्रेनों (Special Trains) से यात्रा के लिए टिकट की बुकिंग कराई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने रविवार को कहा कि एक जून से 200 विशेष ट्रेनों (Special Trains) का परिचालन शुरू कर दिया जायेगा और पहले दिन 1.45 लाख से अधिक यात्री (Passengers) यात्रा करेंगे.

रेलवे ने कहा कि लगभग 26 लाख यात्रियों (Passengers) ने एक जून से 30 जून तक विशेष ट्रेनों (Special Trains) से यात्रा के लिए टिकट की बुकिंग कराई है.

12 मई से लगातार संचालित की जा रही श्रमिक विशेष ट्रेनों से अलग होंगी ये ट्रेनें
ये सेवाएं 12 मई से संचालित हो रही श्रमिक विशेष ट्रेनों और 30 वातानुकूलित ट्रेनों (AC Trains) के अलावा हैं. रेलवे ने कहा कि यात्रियों को प्रस्थान से कम से कम 90 मिनट पहले स्टेशन पर पहुंचना होगा और जिन लोगों के पास कंफर्म या आरएसी टिकट होंगे, उन्हें ही स्टेशन के भीतर जाने और ट्रेनों में सवार होने की अनुमति दी जायेगी.
केन्द्रीय गृह मंत्रालय (MHA) के दिशा-निर्देशों के अनुसार यात्रियों को अनिवार्य रूप से जांच करानी होगी, केवल बिना लक्षण वाले यात्रियों को ही ट्रेनों में प्रवेश करने या सवार होने की अनुमति दी जायेगी.



इन 200 रेलगाड़ियों से प्रवासियों को भी मदद मिलेगी
इससे पहले रेलवे ने 30 जून तक के लिए सभी नियमित यात्री रेलगाड़ियों (Trains) को रद्द कर दिया था. कुछ दिन पहले रेलवे ने कहा था कि इन 200 रेलगाड़ियों को चलाने से उन प्रवासियों को भी मदद मिलेगी जो किसी कारण श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों (Shramik Special Trains) की सुविधा नहीं ले पा रहे हैं.

रेलवे ने कहा, 'इस बात की कोशिश की जाएगी कि वे (प्रवासी) जहां पर हैं वहीं पर नजदीक के रेलवे स्टेशन से रेलगाड़ी में सवार हो सकें.' रेलवे ने राज्य सरकारों से भी उन प्रवासी कामगारों की पहचान करने और उनकी स्थिति का पता लगाने को कहा था जो पैदल ही अपने गृह प्रदेशों के लिए निकल पड़े हैं ताकि नजदीकी जिला मुख्यालय में उनका पंजीकरण कराकर नजदीकी रेलवे स्टेशन से रेलगाड़ियों के जरिये उन्हें आगे के सफर पर भेजा जा सके.

यह भी पढ़ें: रेलवे बोर्ड ने कहा-4050 चलाई गईं स्पेशल ट्रेनें, 54 लाख मजदूरों को पहुंचाया घर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज