SC का प्रवासियों को 15 दिन में वापस भेजने का निर्देश, राज्यों से पूछा गया- और कितनी ट्रेनों की जरूरत?

SC का प्रवासियों को 15 दिन में वापस भेजने का निर्देश, राज्यों से पूछा गया- और कितनी ट्रेनों की जरूरत?
SC ने केंद्र को अगले 15 दिनों के अंदर सभी प्रवासियों को उनके गृह स्थानों पर पहुंचाने के निर्देश दिये थे (सांकेतिक फोटो)

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने यह भी कहा है कि वे राज्य सरकारों (State Government) की ओर से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Train) की मांग होने के 24 घंटे के अंदर उन्हें ट्रेनें उपलब्ध कराता रहेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने राज्यों को पत्र लिखकर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Train) की "बची ट्रेनों की व्यापक" मांग के बारे में बताने को कहा था. इसके लिये उन्हें 10 जून तक प्रवासियों (Migrants) को उनके घर पहुंचाने के लिये ट्रेनों की जरूरत की सूची देने को कहा गया है. ऐसा सुप्रीम कोर्ट (Shramik Court) के केंद्र को अगले 15 दिनों में प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने की प्रक्रिया को पूरा करने का निर्देश दिए जाने के कुछ ही घंटों के अंदर किया गया है.

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने यह भी कहा है कि वे राज्य सरकारों (State Government) की ओर से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की मांग होने के 24 घंटे के अंदर उन्हें ट्रेनें उपलब्ध कराता रहेगा. रेलवे ने 1 मई से अब तक लगभग 60 लाख लोगों को उनके गंतव्य राज्यों तक पहुंचाने के लिए 4,347 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलायी हैं.

रेलवे ने कोरोना काल में चेकिंग के लिया बनाया नया सिस्टम
सूत्रों के मुताबिक, रेलवे 1 जून तक 4000 श्रमिक ट्रेनों से करीब 56 लाख प्रवासियों को उनके घर पहुंचा चुका था. जिसके बाद से ऐसी ट्रेनों की मांग घट गयी. इसके बाद 321 ट्रेनों की नई बड़ी मांग आई थी. जिसमें ज्यादातर ट्रेन पश्चिम बंगाल (West Bengal) के लिए थी.
बता दें कि देश भर में रेल सेवाएं शुरु होने के बाद से रेलवे कई सारे सुरक्षा उपाय भी कर रहा है. ऐसे में भारतीय रेलवे ने कोरोना काल में टिकट चेंकिंग के लिए ऑटोमेटेड टिकट चेकिंग एंड मैनेजिंग एसेस (Automated Ticket checking & Managing Access) सिस्टम शुरू किया है.



कैसे करता है काम आत्मा सिस्टम?
रेल यात्री को स्टेशन के अंदर जाते ही आत्मा सिस्टम पर जाना होगा. आत्मा सिस्टम के सामने जाते ही एक डिजिटल स्क्रीन पर आप खुद को एवं दूसरी ओर बैठे टिकट चेकर आपको देख पाएंगे. सबसे पहले आपने मास्क पहना है या नहीं, इसकी जांच की जाएगी. आप पूरी तरह स्वस्थ हैं या नहीं, इसकी पुष्टि करने के लिए आपका तापमान यानी थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. पूरी तरह स्वस्थ होने पर ही ऊपर लगे कैमरे पर अपनी टिकट का PNR नंबर चेक करा कर और आईडी प्रूफ दिखाकर लगेज चेकिंग काउंटर की ओर प्रस्थान करेंगे.

यह भी पढ़ें: Railway ने टिकट चेकिंग के लिए शुरू किया नया सिस्टम, अब जरूरी है ये काम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading