भारतीय वैज्ञानिकों ने बनाया सस्ता कोविड टेस्ट, एक दिन में कर सकता है 20-50 हजार सैंपल की जांच

भारतीय वैज्ञानिकों ने बनाया सस्ता कोविड टेस्ट, एक दिन में कर सकता है 20-50 हजार सैंपल की जांच
हिमाचल में कोरोना वायरस के मामले. (सांकेतिक तस्वीर)

यह नया टेस्ट भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) का ओर से मान्यता मिलने का इंतजार कर रहा है. एक बार मान्यता मिलने के बाद, यह प्रतिदिन 20,000-50,000 कोविड-19 सैंपल (Covid-19 Samples) का टेस्ट कर सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (CCMB), साइंटिस्ट काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (CSIR) के तहत सेंटर फॉर साइंटिस्ट्स ने Covid-19 के लिए एक "नया कम लागत और कम तकनीक की आवश्यकता वाला" टेस्ट विकसित किया है.

हालांकि, यह नया टेस्ट भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) की ओर से मान्यता मिलने का इंतजार कर रहा है. एक बार मान्यता मिलने के बाद, यह प्रतिदिन 20,000-50,000 कोविड-19 सैंपल (Covid-19 Samples) का टेस्ट कर सकता है. खासकर यह दूरदराज के क्षेत्रों में काफी कारगर साबित हो सकता है. जहां विशेषज्ञ मेडिकल कर्मियों (Medical Workers) और उन्नत मशीनों की उपलब्धता कम होती है.

ICMR की अनुमति के बाद अगले महीने से उपलब्ध हो सकता है टेस्ट
नई टेस्टिंग तकनीक (New Testing Technology) अगले महीने से उपयोग के लिए उपलब्ध होने की उम्मीद है. इन-हाउस रिपोर्ट्स के आधार पर विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि नए टेस्ट- जिसे रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन नेस्टेड पीसीआर (RT-nPCR) टेस्ट के रूप में जाना जाता है - सीसीएमबी अनुसंधान टीम (CCMB Research Team) के जरिये विकसित आरटी-क्यूपीसीआर (RT-qPCR test) टेस्टिंग के लिए स्टैंडर्ड का प्रदर्शन करके दिखा चुका है.
स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी टेस्ट की तारीफ


केंद्रीय स्वास्थ्य और विज्ञान एवं तकनीकी मंत्री हर्षवर्धन ने कहा, "नेस्टेड पीसीआर (RT-nPCR) टेस्ट का तरीका आरटी-क्यूपीसीआर (RT-qPCR test) टेस्टिंग पर आधारित नहीं है. यह मानक RT-PCR को अंतिम जांच के तौर पर प्रयोग करता है."

मंत्रालय की ओर से जारी रिपोर्ट में कहा गया है, “दोनों परीक्षणों के परिणामों की तुलना करने के दौरान, शोधकर्ताओं ने पाया कि मानक RT-qPCR टेस्ट में वास्तविक टेस्टिंग परिदृश्य में कम पहचान क्षमता (50% से कम) हो सकती है, जो कई सैंपल्स में कम वायरल प्रतिनिधित्व के चलते हो सकता है.”

CCMB के डायरेक्टर राकेश मिश्रा ने कहा है कि अभी यह टेस्टिंग प्रक्रिया अनुमति मिलने के लिए ICMR के पास लंबित है. उन्होंने यह भी कहा कि हम ICMR से इसे उन जगहों पर प्रयोग करने के लिए कह सकते हैं, जहां पर RT-qPCR टेस्ट मशीनें नहीं हैं.

यह भी पढ़ें:- कोविड19 के बढ़ते मामलों के बीच पंजाब, केरल, तमिलनाडु, झारखंड में कड़े प्रतिबंध
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading