हमास के हमले में मारी गई भारतीय महिला को इजरायल ने फिर किया याद, देगा मुआवजा

हमास के हमले में जान गंवाने वाली सौम्या संतोष. (तस्वीर-ANI)

हमास के हमले में जान गंवाने वाली सौम्या संतोष. (तस्वीर-ANI)

भारत में इजरायल की डिप्टी एन्वॉय रोनी येदिदा क्लेन (Rony Yedidia Clein) ने कहा है-इजरायल प्रशासन द्वारा परिवार का खयाल रखा जाएगा. जो कुछ हुआ उसके लिए परिवार को मुआवजा दिया जाएगा, हालांकि कि कोई भी मुआवजा एक मां और पत्नी की कमी को नहीं पूरा कर सकता.

  • Share this:

नई दिल्ली. फलस्तीनी संगठन हमास (Hamas) के हमले में जान गंवाने वाली भारतीय महिला सौम्या संतोष (Saumya Santosh) को इजरायल ने एक बार फिर याद किया है. भारत में इजरायल की डिप्टी एन्वॉय रोनी येदिदा क्लेन ने कहा है-इजरायल प्रशासन द्वारा परिवार का खयाल रखा जाएगा. जो कुछ हुआ उसके लिए परिवार को मुआवजा दिया जाएगा, हालांकि कि कोई भी मुआवजा एक मां और पत्नी की कमी को नहीं पूरा कर सकता.

उन्होंने कहा-जिस वक्त घटना घटी उस वक्त सौम्या अपने पति से बातचीत कर रही थीं. मैं समझ सकती हूं कि ये किसी पति के लिए कितनी तकलीफदेह बात है. वो इस वक्त जैसा महूसस कर रहे हैं, उसके लिए मैं सहानुभूति दर्ज करा रही हूं.

'हम उनके परिवार के लिए यहां मौजूद'

इससे पहले बुधवार को भारत में इजरायल के राजदूत रोन माल्का (Ron Malka) ने कहा था-मैंने सौम्या संतोष के परिवार से बातचीत की है. वो हमास के आतंकी हमले का शिकार हुईं. मैंने उनके परिवार से इस अपूर्णीय क्षति के लिए दुख व्यक्त किया है. उनकी मौत पर हमारा पूरा देश दुखी है. हम उनके परिवार के लिए यहां मौजूद हैं.
माल्का ने कहा था-मेरा दिल सौम्या संतोष के 9 वर्षीय बच्चे को लेकर बेहद दुखी है. अब उसे बिना के मां के अपना जीवन गुजारना होगा. इस कायराना हमले ने मुझे 2008 के मुंबई आतंकी हमले की याद दिला दी जिसमें हमारे देश की एक बच्ची के माता-पिता मारे गए थे.

7 सालों से इजरायल में रह रही थीं सौम्या

सौम्या संतोष बीते 7 सालों से इजरायल में रह रही थी. रिपोर्ट्स के अनुसार, हमले के वक्त सौम्या एक घर में बुजुर्ग महिला की देखभाल कर रही थीं. इजरायल और फलस्तीन के बीच जारी हिंसा के चलते प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने लॉड शहर में आपातकाल की घोषणा की है. सरकार ने प्रदर्शनों के चलते यह फैसला लिया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज