अब पर्यटकों की संख्या के आधार पर लिया जाएगा वीजा शुल्क

News18Hindi
Updated: August 20, 2019, 3:26 PM IST
अब पर्यटकों की संख्या के आधार पर लिया जाएगा वीजा शुल्क
पर्यटन मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में राज्‍यों के पर्यटन मंत्रियों के सम्‍मेलन का उद्घाटन किया.

पर्यटन मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में राज्‍यों के पर्यटन मंत्रियों के सम्‍मेलन का उद्घाटन किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 20, 2019, 3:26 PM IST
  • Share this:
भारत ने एक नई ई-पर्यटक वीजा प्रणाली (e-tourist visa fee)की घोषणा की है, जिसमें पर्यटकों की संख्या के आधार पर वीजा शुल्क लिया जाएगा.

पर्यटन पर राज्य सरकार के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक के दौरान पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल (Tourism Minister Prahlad Patel)ने कहा, ‘पीक सीजन’ जुलाई से मार्च तक जब अधिक संख्या में पर्यटक आते हैं, तब भारत 25 डॉलर शुल्क के साथ 30-दिवसीय ई-पर्यटक वीजा देगा.'

उन्होंने कहा, ‘लीन सीजन’ अप्रैल से जून के बीच जब पर्यटक कम आते हैं तब, भारत 10 डॉलर शुल्क के साथ 30-दिवसीय ई-पर्यटक वीजा देगा.'

पटेल ने कहा कि 80 अमेरिकी डॉलर शुल्क का नया पांच वर्षीय ई-पर्यटक वीजा और 40 डॉलर शुल्क का एक वर्षीय ई-पर्यटक वीजा भी शुरू किया गया है. उन्होंने कहा, 'जापान, सिंगापुर, श्रीलंका के लिए लीन सीजन में ई-पर्यटक वीजा का शुल्क 30-दिन के लिए 10 डॉलर और एक वर्ष तथा पांच वर्ष के लिए 25 डॉलर होगा.'

बता दें प्रह्लाद सिंह पटेल ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में राज्‍यों के पर्यटन मंत्रियों के सम्‍मेलन का उद्घाटन किया. इस एक दिवसीय सम्‍मेलन का आयोजन भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें:  लद्दाख को बेहतरीन टूरिज़्म सेंटर बनाएगे: प्रह्लाद पटेल

पीएम मोदी के जाने से बढ़ा आकर्षण
Loading...

इसी बैठक में उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि 'पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के केदारनाथ धाम (Kedarnath Dham) जाने और गुफा में ध्यान लगाने से लोगो का आकर्षण बढ़ा है. इस साल 27 लाख 70 हजार पर्यटक आए. चारधाम आने वाले लोगो का आन लाइन रजिस्ट्रेशन कराते है.कहीं किसी को कोई दिक्कत न हो इसका ध्यान रखते है.'

वहीं उत्तर प्रदेश सरकार के पर्यटन मंत्री ने स्वदेश योजना के तहत नए क्षेत्रो की मांग की. यूपी पर्यटन मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी (UP Tourism Minister Laxmi Narayan Chaudhary) ने कहा कि 'हमने केंद्र से नए पर्यटन क्षेत्र को विकसित करने के लिए 450 करोड़ की मांग की है. यूपी में पर्यटन विकास को लेकर बड़ी सम्भावना है.'

इस सम्‍मेलन में राज्‍यों के पर्यटन मंत्री के साथ-साथ राज्‍यों एवं केन्‍द्र शासित प्रदेशों के पर्यटन सचिव तथा वरिष्‍ठ अधिकारियों ने भी शिरकत की. सभी ने पर्यटन क्षेत्र के विकास एवं संवर्धन से जुड़े विभिन्‍न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया.

भारत सरकार ने कहा- 

भारत सरकार के पत्र सूचना कार्यालय (press information bureau) की ओर से जारी की गई विज्ञप्ति के अनुसार, 'इस सम्‍मेलन के जरिए भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय के लिए एक प्‍लेटफॉर्म सुलभ करा रहा है जहां राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों को नई पहलों के साथ-साथ आगामी पहलों के बारे में अवगत कराया जा रहा है. इसके साथ ही सम्‍मेलन के दौरान राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों से बहुमूल्‍य जानकारियां (फीडबैक) प्राप्‍त होंगी. इसके अलावा सम्‍मेलन के दौरान उन क्षेत्रों पर प्रकाश डाला जाएगा जिनमें राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों की ओर से सक्रिय सहयोग की आवश्‍यकता है.'

इसके साथ ही सम्‍मेलन के दौरान उन पहलों के बारे में जानकारी प्राप्‍त होगी जो पर्यटन क्षेत्र के विकास के लिए राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों की ओर से की जा रही हैं.

भाषा/ प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो के इनपुट के साथ

यह भी पढ़ें: भारत के इन जगहों पर यहां के लोगों को ही जाना मना है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 2:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...