भारत की 'परमाणु हथियार पहले न इस्तेमाल' करने की नीति हालात के हिसाब से बदल सकती है- राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh)ने शुक्रवार को पोखरण (Pokhran) में कहा, 'परमाणु आयुद्ध को लेकर अब तक हमारी नीति 'पहले इस्तेमाल न करने' की रही है. अब भविष्य में क्या होता है, यह उस वक्त के हालात पर निर्भर करता है.'

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 3:02 PM IST
भारत की 'परमाणु हथियार पहले न इस्तेमाल' करने की नीति हालात के हिसाब से बदल सकती है- राजनाथ
राजनाथ सिंह शुक्रवार को पोखरण में थे, जहां उन्होंने यह बात कही. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 3:02 PM IST
पाकिस्तान के साथ बढ़ते तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh)ने शुक्रवार को संकेत दिए कि भारत परमाणु हथियारों (Nuclear Weapons) का पहले इस्तेमाल न करने से जुड़ी अपनी नीति को बदल भी सकता है.

रक्षा मंत्री ने शुक्रवार को पोखरण (Pokhran) में कहा, 'परमाणु आयुद्ध को लेकर अब तक हमारी नीति 'पहले इस्तेमाल न करने' की रही है. अब भविष्य में क्या होता है, यह उस वक्त के हालात पर निर्भर करता है.'

यहां देखें राजनाथ सिंह का बयान


Loading...

राजनाथ सिंह ने ये बयान पोखरन में दिया. ये वही जगह है जहां 1998 में भारत ने प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में 5 न्यूक्लियर टेस्ट किए थे. खास बात ये है कि आज पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि है. रक्षा मंत्री ने आज पोखरण में वाजपेयी को  श्रद्धांजलि देने के बाद उन्होंने ये बातें कही.

वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए राजनाथ सिंह


वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के बाद राजनाथ सिंह ने कहा, ''ये एक संयोग है कि आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि है और मैं जैसलमेर में हूं. ऐसे में लगा कि मुझे उन्हें पोखरण की धरती से ही श्रद्धांजलि देनी चाहिए''

नो फर्स्ट यूज़
नो फर्स्ट यूज़ (NFU) का मतलब है तब तक न्यूक्लियर हथियार का इस्तेमाल न करना जब तक विराधी पहले इससे हमला न करे. भारत ने नूक्लियर हथियार आगे बढ़ कर पहले न इस्तेमाल करने की पॉलिसी 1998 में पोखरण-2 के बाद अपनाई थी.

NFU पर पीएम मोदी की राय
साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि भारत किसी भी दुश्मन के खिलाफ आगे बढ़कर न्यूक्लिर हथियार का इस्तेमाल नहीं करेगा.

NFU पर सवाल
हाल के दिनों में परमाणु सुरक्षा प्रतिष्ठान के कई रिटायर्ड सदस्यों ने भारत के NFU पॉलिसी पर सवाल उठाए हैं. इसके अलावा पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर मनोहर पर्रिकर ने भी साल 2016 में NFU की जरूरत पर सवाल उठाए थे.
First published: August 16, 2019, 2:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...