Home /News /nation /

फ्लाइट के जरिये धार्मिक स्थलों की यात्रा पर भारत का रुख सकारात्मक, पाकिस्तान से चर्चा को इच्छुक!

फ्लाइट के जरिये धार्मिक स्थलों की यात्रा पर भारत का रुख सकारात्मक, पाकिस्तान से चर्चा को इच्छुक!

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची. (फाइल फोटो)

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची. (फाइल फोटो)

भारत (India) और पाकिस्‍तान (Pakistan) के बीच फ्लाइट के जरिए धार्मिक स्थलों की यात्रा के प्रस्‍ताव पर भारत ने सकारात्‍मक रुख दिखाते हुए पाकिस्‍तान से चर्चा की इच्‍छा जता दी है.

नई दिल्‍ली.  भारत (India) और पाकिस्‍तान (Pakistan) के बीच फ्लाइट के जरिए धार्मिक स्थलों की यात्रा के प्रस्‍ताव पर भारत ने सकारात्‍मक रुख दिखाते हुए पाकिस्‍तान से चर्चा की इच्‍छा जता दी है. विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) के प्रवक्ता अरिंदम बागची (Arindam Bagchi) ने सप्ताहिक प्रेस वार्ता में एक सवाल के जवाब में यह बात कही. भारतीय विदेश मंत्रालय के अनुसार इस संबंध में पाकिस्तान हिन्दू कौंसिल के प्रस्ताव पर विचार किया गया है. इसमें श्रद्धालुओं को फ्लाइट के जरिये धार्मिक स्थलों की यात्रा का प्रस्‍ताव रखा गया था. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इस संबंध में दोनों पक्षों की रुचि है और इस पर चर्चा किए जाने की जरूरत है.

विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि फिलहाल भारत और पाकिस्तान के बीच 1974 के प्रोटोकॉल के तहत, धार्मिक स्थलों की यात्रा नियमित रूप से की जा रही है. इनमें धार्मिल स्‍थलों की सहमत सूची, यात्रा के तरीके का विस्‍तार करने के लिए दोनों पक्ष रुचि ले रहे हैं. ऐसे में प्रोटोकॉल के तहत स्‍वाभाविक रूप से चर्चा किए जाने की जरूरत है. यह बयान ऐसे समय में आया है जब दोनों देशों के बीच संबंध अब तक के सबसे निचले स्तर पर हैं. 2019 में पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से व्यापार और यात्रा के अधिकांश रूपों को निलंबित कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें : 74 साल बाद करतारपुर में मिले बंटवारे में बिछड़े दो भाई, अब सीका खान जा सकेंगे पाकिस्‍तान, मिला वीजा 

नई दिल्ली में पाकिस्तानी मिशन ने हाल ही में विदेश मंत्रालय को पाकिस्तान हिंदू परिषद से एक प्रस्ताव भेजा है कि लाहौर और कराची से तीर्थयात्रियों को भारत ले जाने के लिए पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस की दो चार्टर्ड उड़ानों की अनुमति दी जाए. वर्तमान में, तीर्थयात्रियों को केवल वाघा भूमि सीमा और करतारपुर कॉरिडोर के माध्यम से यात्रा करने की अनुमति है. भारत की यह प्रतिक्रिया ऐसे समय में आई है जब कुछ ही दिन पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी के एक प्रमुख हिन्दू सांसद ने भारत से इस संबंध में आग्रह किया था. उन्होंने कहा था दोनों पड़ोसी देशों की आस्था आधरित पर्यटन पहल के तहत भारत उनके देश के तीर्थ यात्रियों के शिष्टमंडल को वीजा जारी करे.

ये भी पढ़ें :  Omicron wave: क्या भारत में ओमिक्रॉन लहर अंत के करीब है? जानें क्या बोले एक्‍सपर्ट्स

भारत और पाकिस्तान के बीच प्रोटोकाल के तहत धार्मिक तीर्थ स्थलों की यात्रा

पाकिस्तान हिन्दू काउंसिल के मुख्य संरक्षक एवं नेशनल असेम्बली के सदस्य डा. रमेश कुमार वंकवानी ने कहा था कि वह पाकिस्तान एयरलाइन्स इंटरनेशनल की एक विशेष चार्टर्ड उड़ान से 29 जनवरी को पाकिस्तानी तीर्थ यात्रियों के एक शिष्टमंडल का नेतृत्व करेंगे. इस बारे में भारत के रुख के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता बागची ने कहा, ‘जैसा कि आप जानते हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच 1974 के प्रोटोकाल के तहत धार्मिक तीर्थ स्थलों की यात्रा को नियमित रूप से आगे बढ़ाया जाता है.’

भारत का रुख सकारात्मक है : बागची 

उन्होंने कहा कि धार्मिक स्थलों के बारे में सहमति के आधार पर तैयार की गई सूची एवं यात्रा के तौर तरीकों का विस्तार करना दोनों पक्षों के हित में है. उन्होंने कहा कि इसके बारे में स्वभाविक तौर पर चर्चा करने की जरूरत है. बागची ने कहा कि इस मामले में भारत का रुख सकारात्मक है और पाकिस्तानी पक्ष के साथ संवाद को इच्छुक है. उन्होंने कहा, ‘आपको कोविड-19 महामारी के मद्देनजर आवाजाही और भीड़ एकत्र करने को लेकर प्रतिबंधों के बारे में आपको पता है .’ प्रवक्ता ने कहा कि जैसे स्थिति सामान्य होगी, हम उम्मीद करते हैं कि द्विपक्षीय प्रोटोकाल के तहत इस समय का उपयोग बातचीत के लिए कर सकते हैं .

Tags: Arindam Bagchi, India, Ministry of External Affairs

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर