कंगना रनौत के साथ फ्लाइट में व्यवहार को लेकर 9 मीडियाकर्मियों पर इंडिगो ने लगाया ट्रैवल बैन

चंडीगढ़ से मुंबई जा रही इंडिगो की फ्लाइट में कंगना रनौत के साथ सवार मीडियाकर्मियों के रवैये पर कई लोगों ने आपत्ति जताई थी. (फोटो साभार- ट्विटर)
चंडीगढ़ से मुंबई जा रही इंडिगो की फ्लाइट में कंगना रनौत के साथ सवार मीडियाकर्मियों के रवैये पर कई लोगों ने आपत्ति जताई थी. (फोटो साभार- ट्विटर)

इंडिगो एयरलाइंस (Indigo) की ओर से ऐसा कदम उठाने के पीछे इन मीडियाकर्मियों को फ्लाइट में खराब बर्ताव बताया जा रहा है. इंडिगो के अनुसार इन लोगों का व्‍यवहार फ्लाइट में अच्‍छा नहीं था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 8:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. बॉलीवुड एक्‍ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और शिवसेना (Shiv Sena) के बीच चले घमासान के दौरान लॉकडाउन के बाद एक्‍ट्रेस हिमाचल में अपने घर से मुंबई गई थीं. इस दौरान कंगना रनौत ने चंडीगढ़ से मुंबई (Mumbai) की फ्लाइट ली थी. इंडिगो (Indigo) की इस फ्लाइट में उन्‍हें कवर करने के लिए कई मीडियाकर्मी भी बैठे थे. अब इंडिगो ने इस फ्लाइट में सवार 9 मीडियाकर्मियों पर 15 दिन यात्रा का प्रतिबंध लगा दिया है.

इंडिगो एयरलाइंस की ओर से ऐसा कदम उठाने के पीछे इन मीडियाकर्मियों को फ्लाइट में खराब बर्ताव बताया जा रहा है. इंडिगो के अनुसार इन लोगों का व्‍यवहार फ्लाइट में अच्‍छा नहीं था. यह एयरलाइंस के नियमों के विरुद्ध है. यह घटना 9 सितंबर की है. कंपनी के अनुसार 9 मीडियाकर्मियों पर 15 अक्‍टूबर से 30 अक्‍टूबर के बीच यात्रा प्रतिबंध लगाया गया है.


डीजीसीए ने ऐक्‍शन लेने के दिए थे निर्देश
डायरेक्‍टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने इंडिगो से 9 सितंबर की घटना का संज्ञान लेते हुए इस सिलसिले में कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे. डीजीसीए ने विमानन कंपनी को कहा था कि चंडीगढ़ से मुंबई जा रही फ्लाइट में हंगामा करने वाले लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए. कंगना इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6E-264 में पहली रो में बैठी थीं. विमान में सवार मीडियाकर्मी इस दौरान उनकी बाइट लेने के लिए मानो टूट पड़े थे.



डीजीसीए को जारी करनी पड़ी थी नई गाडडलाइन
डीजीसीए ने इस घटना के बाद गाइडलाइंस में थोड़ा बदाव किया था. अब फ्लाइट में बिना पूर्व इजाजत के कोई फोटो नहीं खींच सकता. विमान में सफर के दौरान किसी उपकरण के इस्तेमाल की इजाजत नहीं है, जो रिकॉर्डिंग करता हो. डीजीसीए ने कहा कि यात्री ऐसा कोई डिवाइस इस्तेमाल नहीं कर सकते, जिससे भीड़-भाड़ हो, लोगों की सुरक्षा को खतरा हो या फ्लाइट खतरे में पड़ जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज