हमारे हिस्‍से के पानी को पाकिस्‍तान में जाने से रोकेगा भारत: नितिन गडकरी

सिंधु जल संधि के अनुसार भारत पूर्वी नदियों के 80% जल का इस्तेमाल कर सकता है, हालांकि अब तक भारत ऐसा नहीं कर रहा था.

News18Hindi
Updated: February 22, 2019, 12:11 PM IST
News18Hindi
Updated: February 22, 2019, 12:11 PM IST
पुलवामा हमले को लेकर भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी दी है कि भारत ने पाकिस्तान जाने वाले अपने हिस्से के पानी को रोकने का फैसला किया है. भारत पूर्व नदियों के पानी को डायवर्ट करके जम्मू कश्मीर और पंजाब में इसका इस्तेमाल करेगा.

बता दें कि सिंधु जल संधि के अनुसार भारत पूर्वी नदियों के 80% जल का इस्तेमाल कर सकता है, हालांकि अब तक भारत ऐसा नहीं कर रहा था. भारत के इस कदम के बाद पाकिस्तान के सामने बड़ी चुनौतियां पैदा होने की संभावना है.





केंद्रीय मंत्री ने ट्विटर के जरिए जानकारी देते हुए बताया कि शाहपुल कांडी में रावी नदी पर बांध का निर्माण शुरू हो गया है. इसके अलावा UJH प्रोजेक्ट में जम्मू-कश्मीर के उपयोग के लिए हमारे हिस्से के पानी को एकत्रित किया जाएगा और बचे हुए जल Ravi-BEAS लिंक से दूसरे राज्यों में प्रवाहित किया जाएगा.
Loading...




नितिन गडकरी ने इससे पहले उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में बुधवार को कहा था कि जिन तीन नदियों का पानी पाकिस्तान जाता है, उन नदियों के पानी को बांध बनाकर रोकने की योजना बनाई जा रही है. इन नदियों के पानी को यमुना नदी में मिलाया जाएगा. जब यह योजना लागू कर दी जाएगी तो यमुना नदी में पानी पर्याप्त हो जाएगा.

ये भी पढ़ें: बांध बनाकर रोकेंगे पाकिस्तान जाने वाली 3 नदियों का पानी: नितिन गडकरी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...