लाइव टीवी

ट्रंप की यात्रा से भारत-अमेरिका के बीच व्यापार समझौते पर सहमति की संभावना, बातचीत तेज

भाषा
Updated: February 12, 2020, 10:31 PM IST
ट्रंप की यात्रा से भारत-अमेरिका के बीच व्यापार समझौते पर सहमति की संभावना, बातचीत तेज
भारत और अमेरिका द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने को लेकर व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहे हैं. फाइल फोटो. एपी

भारत और अमेरिका के अधिकारी दोनों देशों के बीच प्रस्तावित व्यापार समझौते (Indo US trade deal) के लिये गहन बातचीत कर रहे हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) की इस महीने भारत यात्रा से पहले बातचीत में तेजी आयी है.

  • भाषा
  • Last Updated: February 12, 2020, 10:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और अमेरिका के अधिकारी दोनों देशों के बीच प्रस्तावित व्यापार समझौते (Indo US trade deal) के लिये गहन बातचीत कर रहे हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) की इस महीने भारत यात्रा से पहले बातचीत में तेजी आयी है. हालांकि, एक अधिकारी के अनुसार फिलहाल यह साफ नहीं है कि राष्ट्रपति ट्रंप की 24-25 फरवरी को भारत यात्रा (Trump India visit) के दौरान व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर होंंगे या नहीं.  वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) और अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि राबर्ट लाइटहाइजर के बीच पिछले कुछ सप्ताह से फोन पर कई दौर की बातचीत हो चुकी है. दोनों देश कुछ मसलों के समाधान और द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देने को लेकर व्यापार समझौते पर बातचीत कर रहे हैं.

भारत कुछ इस्पात और एल्युमीनियम उत्पादों पर अमेरिका की तरफ से लगाये जाने वाले उच्च शुल्क से छूट, प्राथमिकता की सामान्यीकृत व्यवस्था (जीएसपी) के तहत कुछ घरेलू उत्पादों को मिलने वाले निर्यात लाभ फिर से शुरू करने, कृषि, वाहन, वाहन कलपुर्जे और इंजीनियरिंग जैसे अपने उत्पादों के लिये अधिक बाजार पहुंच की मांग कर रहा है.

दूसरी तरफ अमेरिका चाहता है कि भारत उसके कृषि और विनिर्मित उत्पादों, डेयरी उत्पाद और चिकित्सा उपकरण जैसे उत्पादों के लिये बाजार पहुंच बढ़ाने के अलावा कुछ सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) उत्पादों पर आयात शुल्क में कटौती करे. इसके अलावा अमेरिका आंकड़ों को स्थानीय तौर पर रखे जाने के मामले और भारत के साथ बढ़ते व्यापार घाटे के मुद्दे को भी उठा रहा है. वित्त वर्ष 2018-19 में भारत का अमेरिका को निर्यात 52.4 अरब डॉलर, जबकि आयात 35.5 अरब डॉलर रहा. वहीं व्यापार घाटा 2018-19 में घटकर 16.9 अरब डॉलर रहा जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 21.3 अरब डॉलर था.

यह भी पढ़ें...



चांद पर जाने के लिए अंतरिक्ष यात्री खोज रहा नासा, ये लोग कर सकते हैं अप्लाई

आईएस में भर्ती होने गए सैकड़ों लोगों को वापस नहीं आने देगा इंडोनेशिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 9:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर